Friday , December 15 2017

गंगाजल से हुआ था मंदिर की धुलायी : यादव

साबिक़ मरकज़ी वज़ीर और जदयू लीडर देवेंद्र प्रसाद यादव वजीरे आला के बयान का हिमायत किया है। उन्होंने कहा कि मधुबनी के परमेश्वरी मंदिर में वजीरे आला के पूजा करके जाने के आधा घंटा बाद ही मंदिर को धोया गया था और मूर्ति के सफाई के लिए गंगा

साबिक़ मरकज़ी वज़ीर और जदयू लीडर देवेंद्र प्रसाद यादव वजीरे आला के बयान का हिमायत किया है। उन्होंने कहा कि मधुबनी के परमेश्वरी मंदिर में वजीरे आला के पूजा करके जाने के आधा घंटा बाद ही मंदिर को धोया गया था और मूर्ति के सफाई के लिए गंगाजल छिड़का गया था। जानकारी वज़ीर रामलषन राम रमण समेत जदयू के कई आला लीडरों को भी है, लेकिन कोई कुछ नहीं बोल रहा है। वजीरे आला को जब मालूम हुआ, तो उन्होंने अवामी प्लेटफॉर्म से इसका खुलासा कर दिया। मिस्टर यादव ने बताया कि जब यह वाकिया हुई, उस वक़्त जीमनी इंतिख़ाब का माहौल था। ज़ाब्ता एखलाक कानून लगी हुई थी।

अगर उस वक़्त यह बात सामने आती, तो समाज में तफ़र्क़ा हो सकती थी और मामला संजीदा हो जाता। इसलिए चुप रहा। जीमनी इंतिख़ाब बीत गया, बात गयी सोच कर चुप रहा, लेकिन जब वजीरे आला ने खुद इस बात को उठाया है, तो सही है। जदयू लीडर ने कहा कि मंदिर धुलवाने और मूर्ति के पाक साफ का काम इक्तिदार के इर्द-गिर्द रहनेवाले लोगों की शह पर ही हुआ था। जहां तक पुजारी के बयान का सवाल है, तो उनका बयान मुतनाज़ा है। कभी कहते हैं कि भीड़ की वजह से उस दिन शाम को मंदिर नहीं धुलवाया गया, कभी कहते हैं कि रोज सुबह-शाम मंदिर धुलवाया जाता है। उन्होंने कहा कि दिल्ली से पटना लौटने के बाद मैं वजीरे आला से मिलूंगा।

TOPPOPULARRECENT