Sunday , July 22 2018

गंगा में दो काशतीयां टकरायीं, तीन ख़वातीन लापता

दीघा थाना इलाक़े के पाटलिपुत्र घाट से नकटा दियारा जा रही मुसाफिरों से भरी कश्ती बीच गंगा में बालू ढोनेवाली कश्ती से टकरा कर डूब गयी। हालांकि, दूसरी कश्ती के नाविक और उस पर सवार मजदूरों ने ज़्यादातर लोगों को बचा कर नकटा दियारा पहुं

दीघा थाना इलाक़े के पाटलिपुत्र घाट से नकटा दियारा जा रही मुसाफिरों से भरी कश्ती बीच गंगा में बालू ढोनेवाली कश्ती से टकरा कर डूब गयी। हालांकि, दूसरी कश्ती के नाविक और उस पर सवार मजदूरों ने ज़्यादातर लोगों को बचा कर नकटा दियारा पहुंचाया। तीन ख़वातीन के लापता होने की इत्तिला है।

कश्ती पर 40-50 लोग सवार थे। लापता लोगों की खोजबीन में एनडीआरएफ के 20 जवान देर रात तक जुटे हुए थे। हादसे में जख्मी पांच लोगों को पीएमसीएच में भरती कराया गया है।

घाट पर कोहराम मचा हुआ था और तमाम अपने रिशतेदारों की जानकारी पाने की कोशिश में लगे थे। बच कर पहुंचे मनोज राय की बीवी नीलम देवी और बेटा ब्रजेश कुमार, श्याम बाबू राय की बीवी और पुलिस राय की बीवी को पीएमसीएच भेजा गया है।

हादसे के तीन घंटे बाद एनडीआरएफ की टीम पहुंची। टीम के शरीक कमांडेट महेश सिंह ने बताया कि दो मोटरलांच और 20 जवानों की मदद से बचाव काम शुरू किया गया है।

बचानेवाले नाविक को पीटा

जिस बालू ढोनेवाली नाव से टकरा कर मुसाफिरों की नाव डूब गयी, उसके नाविक और उस सवार मजदूरों ने डूब रहे मुसाफिरों को किसी तरह अपनी नाव पर सवार कर बचाया और उन्हें गांव पहुंचाया। लेकिन, गांव के लोगों ने नाविक और मजदूरों को यरगमाल बना कर मारपीट की।

TOPPOPULARRECENT