गडकरी का फैसला बी जे पी के हाथ में : आर एस एस

गडकरी का फैसला  बी जे पी के हाथ में   : आर एस एस
आरएसएस चीफ मोहन भागवत ने कहा कि नितिन गडकरी के दोबारा भाजपा का सदर बनाने का फैसला पार्टी को लेना है। उन्होंने इसे भाजपा का अंदरूनी मामला बताया।

आरएसएस चीफ मोहन भागवत ने कहा कि नितिन गडकरी के दोबारा भाजपा का सदर बनाने का फैसला पार्टी को लेना है। उन्होंने इसे भाजपा का अंदरूनी मामला बताया।

मोहन भागवत ने रिटेल सेक्टर में एफडीआई को गलत बताते हुए मर्कज़ी हुकूमत के फैसले की खुलकर तंकीद की। यूपीए हुकूमत के इक्तेसादी इस्लेहात (आर्थिक सुधारों) के फैसलों पर मोहन भागवत ने कहा कि ‌रिटेल और इंश्योरेंस सेक्टर में एफडीआई की इज़ाज़त के फैसले गलत है। उन्होंने कहा कि रिटेल सेक्‍टर में एफडीआई की इज़ाजत से छोटे दुकानदारों के सामने मुसीबत खड़ी हो जाएगी।

बदउनवान (भ्रष्टाचार) के मुद्दे पर मोहन भागवत ने कहा कि पैसे वाले लोग ही ज़्यादा बदउनवानी करते हैं। लेकिन भागवत ने गडकरी से जुड़े बदउनवान के मामले पर कुछ भी नहीं कहा। उन्होंने कहा कि ‌चीन का मसला हमारे लिए बड़ी मुसीबत है। चीन मुसलसल आगे बढ़ रहा है, लेकिन हम आगे नहीं बढ़ रहे।

बी जे पी सदर नितिन गडकरी के बचाव में पार्टी के बड़े लीडर लाल कृष्‍ण आडवाणी भी आ गए हैं। आडवाणी ने गडकरी पर लगाए जा रहे तमाम इल्ज़ामो को सयासी साजिश करार दिया। आडवाणी यू पी ए हुकूमत को निशाना बनाते हुए कहा कि वह गडकरी के खिलाफ सयासी दुशमनी के तहत काम ना करे।

Top Stories