Sunday , December 17 2017

गडकरी के ख़िलाफ़ मुहिम का नरेंद्र मोदी पर इल्ज़ाम

आर एस एस के सीनीयर नज़रिया साज़ एम जी वैद्य ने अपने एक बयान से नया तनाज़ा खड़ा कर दिया कि राम जेठमलानी के सदर बी जे पी नितिन गडकरी के स्तीफे की मांग‌ के पसेपुश्त चीफ़ मिनिस्टर गुजरात नरेंद्र मोदी है। उनके इस बयान से आर एस एस ने दूरी इख़तिया

आर एस एस के सीनीयर नज़रिया साज़ एम जी वैद्य ने अपने एक बयान से नया तनाज़ा खड़ा कर दिया कि राम जेठमलानी के सदर बी जे पी नितिन गडकरी के स्तीफे की मांग‌ के पसेपुश्त चीफ़ मिनिस्टर गुजरात नरेंद्र मोदी है। उनके इस बयान से आर एस एस ने दूरी इख़तियार करली है ।

ऐसा मालूम होता है कि बी जे पी भी वैद्य के तबसरा से लाताल्लुक़ी ज़ाहिर करना चाहती है चुनांचे पार्टी के बयान में कहा गया है कि ऐसी कोई इत्तेलाआत हासिल नहीं हुई हैं । एम जी वैद्य ने अपने ब्लॉग पर कहा है कि सदर बी जे पी नितिन गडकरी के इस्तीफे के लिए मुहिम के सिलसिले में शुबा की सुई गुजरात बी जे पी और चीफ़ मिनिस्टर नरेंद्र मोदी की तरफ़ इशारा करती है ।

उन्होंने ये भी कहा कि राम जेठमलानी एक सांस में गडकरी के इस्तीफ़ा की मांग‌ कररहे हैं और साथ ही साथ 2014 में नरेंद्र मोदी को वज़ीर-ए-आज़म की हैसियत से देखना चाहते हैं । जबकि एल के अडवानी और गडकरी दोनों ने तशहीरी बयानात में यही कहा है कि वो वज़ीर-ए-आज़म के ओहदे की कोई आरज़ू नहीं रखते ।

वैद्य आर एस एस के साबिक़ तर्जुमान है । उन्होंने कहा कि उन्होंने कहीं पढ़ा है कि नरेंद्र मोदी ने वज़ीर-ए-आज़म बनने की आरज़ू की तरदीद करदी है लेकिन वो अपने तबसरा पर क़ायम है । उन्होंने कहा कि ये मेरे राय है कि राम जेठमलानी ने दो मा‍ग‌ यानी गडकरी के स्तीफ़ा और नरेंद्र मोदी को वज़ीर-ए-आज़म बनाने के मांग‌ को यकजा कर दिया है उनके ख़्याल में शक की सोई गुजरात की तरफ़ घूम जाती है ।

उन्होंने कहा कि वो ये नहीं कह रहे हैं कि नरेंद्र मोदी ही इस मुहिम के ज़िम्मेदार है ताहम वो इस सिलसिले में मशकूक ज़रूर है । राम जेठमलानी का नुक़्ता-ए-नज़र मुम्किन है कि इन का अपना ना हो । मेरे नुक़्ता-ए-नज़र से आर एस एसका मुत्तफ़िक़ होना ज़रूरी नहीं है ताहम आर एस एस के सरकारी तर्जुमान राम माधव ने कहा कि वैद्य ने ब्लॉग पर जो नुक़्ता-ए-नज़र पेश किया है वो इन का शख़्सी नुक़्ता-ए-नज़र है ।

आर एस एस की सरकारी पालिसी के मुताबिक़ नहीं है । वैद्य के तबसरा पर रद्द-ए-अमल ज़ाहिर करते हुए सदर बी जे पी नितिन गडकरी ने उन के बयान को बेबुनियाद तबसरा क़रार दिया है और दावे किया है कि पार्टी के तमाम क़ाइदीन मुत्तहदा तौर पर काम कररहे हैं ।

उन्होंने पार्टी के रुकन पार्लीमैंट राम जेठमलानी के बयान को नरेंद्र मोदी से मरबूत करने की कोशिश को भी खारीज‌ कर दिया है । और कहा है कि बी जे पी इस किस्म के तबसरों को पुरी तौर पर बेबुनियाद क़रार देती है । बी जे पी के तमाम चीफ़ मिनिस्टरस पार्टी के मक़ासिद की तकमील केलिए मुत्तहदा तौर पर जद्द-ओ-जहद कररहे हैं ।

बी जे पी के क़ाइद वैंकया नायडू ने कहा कि हमें मौसूला इत्तेलाआत के बमूजब हम वैद्य के नुक़्ता-ए-नज़र पर कोई तबसरा नहीं करना चाहते जब तक कि इस बारे में तहक़ीक़ात मुकम्मल ना होजाए । उन्होंने कहा कि वो नहीं जानते कि ये इत्तेला वैद्य को कहाँ से मिली है ।राम जेठमलानी ने इद्दिआ किया था कि उन्हें पार्टी के दीगर सीनीयर क़ाइदीन जैसे जसवंत सिंह ,यशवंत सिन्हा और शुत्र विघ्न सिन्हा की ताईद भी हासिल है ।

TOPPOPULARRECENT