Friday , January 19 2018

गणेश विसर्जन जलूस के अरकान पर पुलिस का लाठी चार्ज

हाथी माई के इलाके में गणेश मूर्तियों के विसर्जन केलिए निकाले गए एक जलूस में शरीक अरकान ने जब पुलिस की जानिब से उन्हें शोर-ओ-गुल ना करने और मौसीक़ी बंद करने की हिदायत पर कोई तवज्जो नहीं दी तो पुलिस को मजबूरन लाठी चार्ज करना पड़ा।

हाथी माई के इलाके में गणेश मूर्तियों के विसर्जन केलिए निकाले गए एक जलूस में शरीक अरकान ने जब पुलिस की जानिब से उन्हें शोर-ओ-गुल ना करने और मौसीक़ी बंद करने की हिदायत पर कोई तवज्जो नहीं दी तो पुलिस को मजबूरन लाठी चार्ज करना पड़ा।

हाथी माई से राजघाट केलिए एक गणेश विसर्जन जलूस का कल रात 10 बजे एहतिमाम किया गया था और जलूस के रास्ते में मुसलसल मौसीक़ी बजाई जा रही थी जिस से रात के औक़ात में जब दीगर लोगों को ये एहसास हुआ कि मौसीक़ी की आवाज़ बहुत ज़ियाद है और आलूदगी के इलावा कई लोगों के (ख़ुसूसी तौर पर क़लब के मरीज़ों) केलिए जान लेवा भी साबित होसकती है तो उन्होंने पुलिस से शिकायत की जिस पर एस पी (सिटी) प्रेषण पांडे ने जलूस के साथ चलने वाले डी जे को रोक लिया और बादअज़ां गणेश की मूर्ती को विसर्जन केलिए सीनिय‌र और मुअज़्ज़िज़ शहरियों की निगरानी में रवाना किया गया।

इस पर जलूस में शरीक कुछ लोगोंने एहतिजाज किया जलूस‌ मुंतशिर करने के लिए पुलिस ने लाठी चार्ज क्या। इस वाक़िया के एक घंटा के बाद जिस इलाक़ा से गणेश मुर्ती उठाई गई थी , इस इलाक़ा के लोगों ने मुक़ामी एम पी योगी आदित्य नाथ की क़ियादत में एक धरना मुनज़्ज़म किया और पुलिस आफ़िसरान के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने का मांग‌ किया।

लेकिन डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट रवी कुमार और एस एस पी प्रदीप कुमार की बरवक़्त मुदाख़िलत से मुआमला रफ़ा दफ़ा होगया और एहितजाजी धरने से दस्तबरदार होगए। याद रहे कि पुलिस गणेश विसर्जन जलूस में शोर पैदा करने और आवाज‌ आलूदगी पैदा करनेवाली मौसीक़ी इस्तिमाल ना करने की एक अर्सा से हिदायत कर रही है।

TOPPOPULARRECENT