Monday , February 19 2018

गद्दाफी के शासनकाल में लीबिया के लोगों को मिलते थे घर, बिजली, चिकित्सा, पढ़ाई और भी कई चीजें फ्री

भले ही कल लीबिया के पूर्व शासक जनरल मुअम्मर गद्दाफी के मरे पांच साल हो गए हैं। गद्दाफी शासनकाल में की जनता को काफी कुछ फ्री मिलते थे। कुछ जानकारों का कहना है कि शायद ही कोई शासक इतना सुविधा अपनी जनता को दे सके।

लीबिया में ‘घर’ मानव अधिकार की श्रेणी में शामिल थे। गद्दाफी ने कसम खाई थी कि जब तक लीबिया के हर नागरिक को उसका खुद का घर नहीं मिलता, तब तक वह अपने माता-पिता के लिए भी घर नहीं बनवाएगा। यही वजह थी कि गद्दाफी अपने परिवार के साथ टेंट में रहता था।

लीबिया में गद्दाफी शासन का अपना खुद का स्टेट बैंक था। इसके जरिए वो आपने नागरिकों को दिए गए बैंक लोन पर ब्याज नहीं वसूलता था। साथ ही, लीबिया में ऑयल की बिक्री से आने वाली रकम का एक हिस्सा सीधे यहां के नागरिकों के बैंक खाते में जाता था।

लीबिया में जनता को बिजली का बिल माफ़ रहता था। ये यहां के लोगों के बुनियादी अधिकारों में शामिल था।

लीबिया में शादी करने वाले हर जोड़े को गद्दाफी की तरफ से 32 लाख रुपए (50 हज़ार डॉलर) की राशि दी जाती थी। इतना ही नहीं, लीबिया में बच्चों की पैदाइश के वक्त भी महिला और उसके बच्चे को करीब सवा 3 लाख रुपए की रकम दी जाती थी।

लीबिया में गद्दाफी सरकार की ओर से लोगों के लिए फ्री पढ़ाई की व्यवस्था थी। इतना ही नहीं, देश में जरूरी एजुकेशन न मिलने पर स्टूडेंट्स को बाहर जाने की भी सुविधा थी। वहीं, विदेश में पढ़ाई पर आने वाला पूरा खर्च तो सरकार उठाती ही थी। इसके साथ ही बाहर रहने के लिए महीने के खर्च के तौर पर डेढ़ लाख रुपए और कार अलाउंस अलग से दिया जाता था।

लीबिया में सभी लोगों के लिए हेल्थ फैसिलिटी पूरी तरह से फ्री थीं। यहां लोगों के स्वास्थ्य सेवाओं पर आने वाला सारा खर्चा गद्दाफी सरकार खुद वहां करती थी। साथ ही, देश के बाहर भी इलाज कराने पर मेडिकल फैसिलिटी पर आने वाला पूरा खर्च सरकार ही उठाती थी।

सौजन्य- ‘न्यूज 24’

TOPPOPULARRECENT