Saturday , June 23 2018

गरीबी से जुझती मिश्र की 10 साल की लड़की मारवा नंगे पांव मैराथन दौड़ में पहला स्थान प्राप्त की

सोशल मीडिया में लोग एक 10 वर्षीय लड़की की तस्वीरें साझा कर रहे हैं, जिसकी ज़िंदगी गरीबी में बितती है और मिस्र में असवान की सड़कों पर टीशु पेपर बेचती है. बच्चों के लिए एक चरिटी मैराथन दौड़ में प्रथम स्थान प्राप्त की है. असवान स्टेशन के सामने टीशु पेपर बेचने वाली मारवा ने मैग्दी याकॉब हार्ट फाउंडेशन द्वारा आयोजित बच्चों के चरिटी के लिए मैराथन दौड़ में शामिल हुई थी और पहला स्थान प्राप्त की.

आयोजकों से पूछा कि क्या वह दौड़ में शामिल हो सकती है। जबिक प्रतिभागियों के लिए प्रवेश शुल्क 200 ईजीपी था, और प्रतिभागियों ने जुते पहन रखे थे, लेकिन आयोजकों ने उसे खुशी से मुफ्त में शामिल होने की अनुमति दी. वह 10 वर्षीय लड़की हिजाब और नीचे जींस पहने हुए थी जबिक नंगे पैर थी उसके पास कोई जूते नहीं थे, फिर भी वह दूसरे प्रतिभागियों को हराकर फिनिश लाइन पार की और पहला स्थान पायी.

सड़क में एक टीशु पेपर विक्रेता के रूप में मारवा की दैनिक दिनचर्या में ग्राहकों की कारों के पास टीशु बेचन वाली यह लड़की इस बार एक उद्देश्य के साथ चल रही थी, और एक पल के लिए उसने गरीबी से जूझ रहे जीवन की कठिनाइयों के बारे में भूल गयी । आयोजकों ने मारवा को पहला स्थान के लिए पदक दिया और साथ फोटो भी खिचाया.

सोशल मीडिया ने युवाओं और खेल मंत्रालयों और व्यापारियों को मारवा को अपनाने और उनकी प्रतिभा का इस्तेमाल करने के लिए मांग कर रहे हैं, ताकि उसे एक दिन ओलिंपिक एथलीट बनने की उम्मीद जगे.

TOPPOPULARRECENT