Tuesday , January 23 2018

गांधी जी की बरसी के मौक़े पर क़ौमी यकजहती मनाने का ऐलान

नागपुर मुल्क भर में फ़िर्कावाराना कशीदगी पर सी पी आई का इज़हारे तशवीश

नागपुर

मुल्क भर में फ़िर्कावाराना कशीदगी पर सी पी आई का इज़हारे तशवीश

संघ‌ परिवार पर समाज में शीराज़ा बंदी का इल्ज़ाम आइद करते हुए सी पी आई ने आज कहा कि घर वापसी और बहू बेटी बचाव‌ जैसे प्रोग्राम का असल मक़सद हुकूमत की नाकामियों से अवाम की तवज्जे हटाता है। लेफ्ट पार्टी ने सेकूलर ताक़तों से पुर ज़ोर अपील की कि 30 जनवरी को महात्मा गांधी की बरसी के मौक़े पर क़ौमी यकजहती मनाया जाये और अवाम को ये बताया जाये कि बाबाए क़ौम के क़तल के ज़िम्मेदार कौन हैं।

नागपुर में मुनाक़िदा नेशनल काउंसल इजलास में मनज़ोरा एक क़रारदाद में सी पी आई ने कहा कि नरेंद्र मोदी की 6 माही हुकूमत में मुल्क के मुख़्तलिफ़ हिस्सों में 800 से ज़ाइद फ़िर्कावाराना फ़सादात‌ पेश आए हैं जबकि घर वापसी , लो जिहाद और बहू बेटी बचाव‌ मुहिम के ज़रिए अपनी नाकामियों से अवाम की तवज्जे हटाने की कोशिश में है।

दूसरी तरफ़ अक्सरियती और अक़िलिय‌ती बुनियाद परस्त फ़िर्कावाराना सफ़ बंदी केलिए सरगर्म हैं। पार्टी ने ये इल्ज़ाम आइद किया कि संघ‌ परिवार समाज में इंतेशार पैदा करने केलिए मुख़्तलिफ़ हथकंडे इस्तेमाल कर रहा है। क़रारदाद में कहा गया कि सेकूलर और जम्हूरी ताक़तों को फ़िर्कापरस्ती के ख़तरात का मुक़ाबला करने केलिए मुत्तहिद होजाना चाहिए और महात्मा गांधी के क़त्ल के ज़िम्मेदार घिनोने चेहरों को बेनकाब कराया जाये जो कि रास्त यह बॉलर अस्त क़ौमी यकजहती को ख़तरा पैदा कर रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT