Friday , December 15 2017

गांधी जी की यादगारों का हराज हुकूमत पर तन्क़ीद

राज्य सभा में अपोज़ीशन जनतादल यूनाईटेड ने गांधी जी की यादगारों के लंदन में हराज के मसला पर हुकूमत को तन्क़ीद का निशाना बनाया और कहा कि ये हराज क़ौम के लिए बाइस-ए-शर्म है । जे डी यू ने हुकूमत से मुतालिबा किया कि इन यादगारों को फ़ौरी वतन व

राज्य सभा में अपोज़ीशन जनतादल यूनाईटेड ने गांधी जी की यादगारों के लंदन में हराज के मसला पर हुकूमत को तन्क़ीद का निशाना बनाया और कहा कि ये हराज क़ौम के लिए बाइस-ए-शर्म है । जे डी यू ने हुकूमत से मुतालिबा किया कि इन यादगारों को फ़ौरी वतन वापस लाया जाए ।

वक़फ़ा सिफ़र के दौरान ये मसला उठाते हुए मिस्टर शिवा नंद तिवारी ने कहा कि हुकूमत ने गांधी जी की यादगारों को वतन वापस लाने के लिए कुछ नहीं किया हालाँकि मशहूर गाँधियाई मुसन्निफ़-ओ-पद्मश्री गिरी राज किशोर ने इस सिलसिला में सदर जमहूरीया मुहतरमा प्रतीभा पाटिल वज़ीर ए आज़म मनमोहन सिंह को मकतूब रवाना करते हुए इस हराज को रुकवाने पर ज़ोर दिया था ।

मिस्टर तिवारी ने कहा कि ये बात बाइस-ए-शर्म है कि गांधी जी के ख़ून में रंगी मिट्टी को हराज कर दिया गया और इस को रोकने हुकूमत ने कुछ भी नहीं किया । ये हराज इसी पार्टी की हुकूमत के दौर में हुआ है जो अक्सर-ओ-बेशतर गांधी जी का नाम इस्तेमाल करती है ।

मिस्टर गिरी राज किशोर ने हुकूमत की ख़ामोशी पर पद्मश्री एज़ाज़ वापस कर दिया है ।

TOPPOPULARRECENT