Thursday , December 14 2017

गायों की मौत की सीबीआई जांच की मांग: विपक्ष का विरोध

जयपुर: राजस्थान विधानसभा में आज उस समय शोर-शराबा और हंगामा दृश्यों देखे गए जब विपक्षी सदस्यों ने हंगोनिया सरकार प्रशासित गौ धर्मशाला में हजारों गायों की मौत की सीबीआई जांच की मांग पर जबरदस्त विरोध किया जिसके बाद स्पीकर कैलाश मेघवाल ने विरोध सदस्यों को सदन से बाहर निकाल देने का आदेश जारी किया। आज सुबह 11 बजे सदन की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस सदस्यों ने यह मुद्दा उठाया और मांग की कि गायों की देखभाल में आपराधिक लापरवाही के परिणाम में असंख्य गायों की मौत की सीबीआई जांच और बहस की मांग की।

विरोध सदस्यों ने सरकार के खिलाफ खेलना कार्ड्स उठाते हुए नारे बुलंद किए। इस बीच उप नेता रमेश मीणा और स्वतंत्र विधायक हनुमान बीनवाल कुर्सी अध्यक्षता में पहुँच गए। अध्यक्ष ने विरोध सदस्यों के व्यवहार को गुंडों जैसा बताते हुए मारशलस को आदेश दिया कि उन्हें तुरन्त बाहर निकाल दें जब प्रदर्शनकारियों को सदन से उठाकर बाहर ले जा रहे थे। उन्होंने मारशलस को धकेल दिया। निकालने के बाद अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही एक घंटे के लिए स्थगित कर दी।

सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू होने पर विपक्ष के नेता रामेश्वर दूधिया ने आरोप लगाया कि राज्यपाल के इशारे पर स्पीकर कार्रवाई कर रहे हैं। बाद में विपक्षी सदस्यों मुद्दों उठाते समय नियमों के पालन करना चाहिए। इस बीच सरकार के उप मुख्य सचेतक मदन राथोड़ ने कहा कि वर्ष 2000 में 5 हजार गाय मर गई थीं जब कांग्रेस सत्ता में थी लेकिन अब वह खबरों में काफी होने के लिए इस तरह के संघर्ष कर रहे हैं। कांग्रेस सदस्यों सीटों पर लौटने से इनकार के बाद अध्यक्ष ने दूसरी बार एक घंटे के लिए कार्यवाही स्थगित कर दी।

TOPPOPULARRECENT