Saturday , December 16 2017

गाली जनार्धन को मुसीबतों से बचाने ख़ुसूसी पूजा

कर्नाटक और आंध्र प्रदेश में मुबयना गै़रक़ानूनी कानकनी के मुक़द्दमात के ज़िमन में कर्नाटक के एक साबिक़ रियास्ती वज़ीर गाली जनार्धन रेड्डी तक़रीबन दो साल से अदालती तहवील में हैं और ज़मानत पर जल्द रिहाई एक बहुत दौर का ख़ाब मालूम होता

कर्नाटक और आंध्र प्रदेश में मुबयना गै़रक़ानूनी कानकनी के मुक़द्दमात के ज़िमन में कर्नाटक के एक साबिक़ रियास्ती वज़ीर गाली जनार्धन रेड्डी तक़रीबन दो साल से अदालती तहवील में हैं और ज़मानत पर जल्द रिहाई एक बहुत दौर का ख़ाब मालूम होता है।

चुनांचे उनके अरकान ख़ानदान ने उनकी रिहाई के लिए पिछ्ले रोज़ अपने आबाई ज़िला बेल्लारी में रियासत के 70 सरकरदा साधव और पुजारियों को जमा करते हुए ख़ुसूसी पूजा का एहतेमाम किया।

अगरचे ये पूजा इंतेहाई राज़दारी में की गई थी लेकिन साबिक़ वज़ीर की रिहायश गाह पर जहां कई माह से ख़ामोशी और वीरानी तारी थी अचानक चहल पहल और साधव की कसरत देखते हुए ये अफ़्वाह आम होगई थी कि गाली जनार्धन के भाई काला जादू करवा रहे हैं।

ये अफ़्वाहें पहले ही मुसीबतज़दा बाअसर ख़ानदान के लिए एक नई मुसीबत साबित हुईं चुनांचे इस से बचने के लिए गाली ख़ानदान ने ख़ुसूसी पूजा के एहतेमाम का राज़ फ़ाश कर दिया।

TOPPOPULARRECENT