Monday , December 18 2017

गिरफ़्तार बेक़सूर मुस्लिम नौजवानों की रिहाई का तय्कीन

कमिशनर पुलिस अनुराग शर्मा ने टी आर ऐस अक़ल्लीयती सल के सदर मुहम्मद महमूद अली को याकीन दिल‌या के पुराने शहर में हालिया पुरतशदुद वाक़ियात के सिलसिले में गिरफ़्तार किए गए नौजवानों में अगर कोई बेक़सूर पाए जाएं तो उन्हें फ़ौरी रहा कर

कमिशनर पुलिस अनुराग शर्मा ने टी आर ऐस अक़ल्लीयती सल के सदर मुहम्मद महमूद अली को याकीन दिल‌या के पुराने शहर में हालिया पुरतशदुद वाक़ियात के सिलसिले में गिरफ़्तार किए गए नौजवानों में अगर कोई बेक़सूर पाए जाएं तो उन्हें फ़ौरी रहा कर दिया जाएगा।

महमूद अली ने आज पत्थर गिटटी के ताजरीन के एक वफ़द के साथ कमिशनर पुलिस अनुराग शर्मा और डिप्टी कमिशनर साव‌थ ज़ोन अकुन सभरवाल से मुलाक़ात की और बताया के पत्थर गिट्टी की दुक्का नात में काम करने वाले कई नौजवानों को पुलिस ने कल रात इसवक़्त हिरासत में ले लिया जब वो दुक्का नात बंद होने के बाद अपने मकान वापिस होरहे थे।

उन्हों ने कहा के सय्यद साबिर, मुहम्मद ग़ौस, मुहम्मद मुनव्वर, मुहम्मद एजाज़, सय्यद असद और दुसरे नौजवानों को पुलिस ने कल रात से अपनी हिरासत में रखा है और उन के अफ़राद ख़ानदान परेशान हैं।

दुकानदारों ने बताया के ये नौजवान उन की दुक्का नात में काम करते हैं और तशद्दुद से उन का कोई ताल्लुक़ नहीं। कमिशनर और डिप्टी कमिशनर ने याकीन दिल‌या के इन नौजवानों के बारे में मालूमात करने के बाद आज रात या कल सुबह उन्हें रहा कर दिया जाएगा।

महमूद अली ने बताया के शहर के मुख़्तलिफ़ इलाक़ों से अवाम शिकायत कररहे हैं के पुलिस बेक़सूर नौजवानों को शक की बुनियाद पर हिरासत में ले रही है।

उन्हों ने पुलिस की तरफ से कारोबार को जल्द बंद करा दिए जाने की भी मुख़ालिफ़त की और कहा के इस से रोज़मर्रा के छोटे कारोबार करने वाले बरी तरह मुतास्सिर हैं।

उन्हों ने बेक़सूर नौजवानों की रिहाई के लिए मातहत ओहदेदारों को हिदायत देने की अपील की। वफ़द ने कहा के हैदराबाद रिवायती तौर पुर अमन-ओ-अमान और क़ौमी यकजहती का गहवारा रहा है लेकिन बाज़ ग़ैर समाजी अनासिर इस सूरत-ए-हाल को बिगाड़ने की कोशिश कररहे हैं।

हस्सास सूरत-ए-हाल का इस्तिहसाल करते हुए शरपसंद अनासिर चाहते हैं के अमन-ओ-ज़बत की सूरत-ए-हाल को ख़राब किया जाये। कमिशनर पुलिस ने वफ़द से अपील की के वो बरक़रारी अमन के लिए सात दें।

उन्हों ने अवाम से भी अपील की के वो अमन की बरक़रारी में पुलिस से तवुन करें और अफ़्वाहों पर ध्यान ना दें।

TOPPOPULARRECENT