Saturday , April 21 2018

गुजरात चुनाव : ईवीएम के पास मिला वाई-फाई नेटवर्क, हुई छेड़छाड़ की आशंका

सूरत : गुजरात की कामरेज विधानसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार की ओर से राज्य विधानसभा चुनावों में इस्तेमाल की गई इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) की संभावित हैकिंग और उससे छेड़छाड़ की शिकायत के बाद एक स्थानीय कॉलेज में वाई-फाई सेवा रविवार को रोक दी गई। दरअसल, ईवीएम कॉलेज के अंदर ही रखी हुई हैं।

कांग्रेस उम्मीदवार अशोक जरीवाला की शिकायत के बाद अठवा लाइंस इलाके में स्थित गांधी इंजिनियरिंग कॉलेज परिसर में वाई-फाई सेवा रोक दी गई। जरीवाला ने कहा, ‘हमने पाया कि (कॉलेज में बने) रूम के पास एक वाई-फाई नेटवर्क उपलब्ध था, जिसके बाद हमने डीएम से कार्रवाई करने को कहा।’ कांग्रेस नेता के मुताबिक, उन्होंने दो दिन पहले भी ऐसी ही शिकायत की थी, जिसके बाद डीएम ने परिसर में वाई-फाई सेवा पर रोक लगाने के आदेश दिए थे।

जरीवाला ने बताया, ‘रविवार को हमने वाई-फाई नेटवर्क को फिर से सक्रिय पाया। हम कोई जोखिम नहीं लेना चाहते क्योंकि ईवीएम की हैकिंग और उनसे छेड़छाड़ की आशंका है।’ शिकायत के बाद सूरत के डीएम और जिला निर्वाचन अधिकारी महेंद्र पटेल ने कॉलेज के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने परिसर में वाई-फाई सेवा पर रोक लगाएं। पटेल ने कहा कि शिकायतकर्ता को स्ट्रॉन्ग रूम के अंदर रखी ईवीएम में वाई-फाई के इस्तेमाल से छेड़छाड़ होने की आशंका थी। बहरहाल, हमने उनके संदेह को दूर करते हुए रोक लगाने के आदेश दे दिए हैं।

इस स्ट्रॉन्ग रूम में 6 विधानसभा क्षेत्रों- ओल्पड, मांडवी, महुआ, व्यारा, कामरेज और मंगरोल की ईवीएम रखी हुई हैं।

बता दें कि कांग्रेस समेत पाटीदार नेता हार्दिक पटेल और दलित नेता जिग्नेश मेवानी ने भी ईवीएम की हैकिंग की आशंका जाहिर की है।

TOPPOPULARRECENT