गुजरात चुनाव की वजह से अर्थव्यवस्था की ख़ूबसूरत तस्वीर: शरद यादव

गुजरात चुनाव की वजह से अर्थव्यवस्था की ख़ूबसूरत तस्वीर: शरद यादव
Click for full image

नई दिल्ली: जनतादल (यू)के शरद यादव ने आज इल्ज़ाम लगाया कि गुजरात विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सरकार बाहरी एजेंसियों से अर्थव्यवस्था की ख़ूबसूरत तस्वीर पेश कर रही है जबकि देश की अंदरूनी आर्थिक स्थिति बदतर हो चुकी है।

मिस्टर यादव ने यहां प्रेस कान्फ़्रेंस‌ में कहा कि मूडीज,अंतरराष्ट्रीय बैंक और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष भारत‌ को बग़ैर जाने ही वक़्त बरवक़्त सर्टीफ़िकेट जारी करते रहते हैं। नोटों का रद्दिकण‌ और जी एसटी लागू किए जाने की वजह से किसान,मज़दूर और छोटी व्यापारीयों की आर्थिक स्थिति बदतर हो गई है और छोटे छोटे कारोबार बंद होने से लाखों नौजवान बेरोज़गार हो गए हैं।

उन्होंने कहा कि बहरी एजेंसीयां अर्थव्यवस्था का ऐसा माहौल बनाने की कोशिश कर रही है कि जैसे ये चरम पर पहुंच गई है। देश‌ के सभी पक्षों के अर्थशास्त्रियों और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का मानना ​​है कि आर्थिक स्थिति बदतर हो गई है और देश की जनता आर्थिक समस्याओं से परेशान हो रहे हैं।

मिस्टर यादव ने कहा कि सरकार की कोशिश का गुजरात चुनाव पर कोई असर नहीं होगा और लोग सोच समझ कर ही वोट करेंगे ।कांग्रेस की नेतृत्व में विपक्षी पार्टियां वहां लोगों को एकजुट कर रही हैं और इस के अच्छे परिणाम निकलेंगे।

Top Stories