Tuesday , April 24 2018

गुजरात चुनाव में प्रवीण तोगड़िया ने बीजेपी के खिलाफ़ माहौल बनाया- सूत्र

जालंधर। गुमशुदगी के बाद जिस तरह से प्रवीण तोगडिय़ा ने अपने एन्काऊंटर की साजिश का आरोप इशारों-इशारों में अपनी ही सरकार पर लगाया है, उससे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ही नहीं बल्कि खुद उनके संगठन विश्व हिंदू परिषद ने भी पूरे विवाद से दूरी बना ली है।

सूत्रों की माने तो संघ के बड़े अधिकारियों के पास यह जानकारी है कि गुजरात में भाजपा के खिलाफ माहौल बनाने और इसको हवा देने में वी.एच.पी. नेता प्रवीण तोगडिय़ा की अहम भूमिका रही है।

राज्य में पाटीदार आरक्षण के नाम पर भाजपा सरकार के खिलाफ आंदोलन करने वाले और चुनाव में कांग्रेस को समर्थन देने वाले पाटीदार नेता हार्दिक पटेल प्रवीण तोगडिय़ा से लंबे समय से संपर्क में रहे हैं।

संघ के बड़े नेताओं को लगता है कि जिस तरह से प्रवीण तोगडिय़ा ने मोदी सरकार और भाजपा के खिलाफ खुलकर बयानबाजी करते रहे हैं उससे पार्टी और सरकार को नुक्सान होने के साथ-साथ विपक्ष को भी मोदी सरकार और भाजपा पर हमला बोलने का मौका मिलता है।

गौरतलब है कि तोगडिय़ा ने पिछले दिनों अपने एन्काऊंटर का आरोप इशारों-इशारों में पी.एम. नरेंद्र मोदी पर व्यक्तिगत और उनकी सरकार पर लगाए हैं।

विपक्ष उसे जरूर भविष्य में उठाने की कोशिश करेगा। गुजरात के चुनाव के नतीजों के बाद संघ 2019 के लोकसभा चुनाव में किसी भी तरह की अपने संगठनों के बीच कोई तकरार नहीं चाहता, इसीलिए पूरे विवाद से अपने आपको किनारे कर लिया है।

सूत्रों की मानें तो प्रवीण तोगडिय़ा की पी.एम. मोदी के विवादों के चलते संघ उन्हें वी.एच.पी. के कार्यकारी अध्यक्ष पद से हटाना चाहता है। बता दें कि वी.एच.पी. के अध्यक्ष राघव रेड्डी और कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगडिय़ा का कार्यकाल समाप्त हो रहा है। वी.एच.पी. के नए अध्यक्ष के चुनाव के लिए बीते 29 दिसम्बर को भुवनेश्वर संगठन के कार्यकारी बोर्ड की बैठक हुई थी

TOPPOPULARRECENT