Sunday , December 17 2017

गुजरात दंगों में हिन्दुत्ववादियों ने घर जलाया था , अब बेटे को गौरक्षकों ने मार डाला

representational-images-cow-vigilantes
THE WASHINGTON POST/GETTY IMAGES

गुजरात: चौदह साल पहले 2002 में गुजरात में हुए सांप्रदायिक दंगे में घर खो देने वाली मेहराजबानो से अब गौरक्षकों ने उनका 29 का साल का बेटा भी छीन लिया |

12 सितंबर को गौरक्षकों द्वारा बेरहमी से पीटे जाने के बाद अस्पताल में चार दिन बाद दम तोड़ देने वाले मोहम्मद अय्यूब की माँ मेहराजबानो ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि “2002 के तूफ़ान ने मेरी झोंपड़ी जला दी थी अब गौरक्षकों ने मेरे बेटे को मार डाला है” |

Facebook पर हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करें

अय्यूब की चाची खेरुन्निसा ने इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए कहा कि “मैं ये पूछना चाहती हूँ कि क्या गाय के लिए आप एक इंसान की जान ले लोगे ? अगर अय्यूब कुछ ग़लत कर रहा था तो उसे पुलिस को सौंप देना चाहिए था” |

मेहराजबानो ने कहा कि 2002 के सांप्रदायिक दंगे में अहमदाबाद की शाह-ए-आलम बस्ती में उनके घर को आग लगा दी गयी थी जिसके बाद वह इमदानगर बस्ती में रहने लगीं थीं |
उन्होंने बताया कि अपने पति की मौत के बाद उन्होंने दोनों बेटों कि ज़िम्मेदारी खुद उठाई और अब उन्हें अय्यूब की पत्नी और बच्चों की ज़िम्मेदारी उठानी होगी|

TOPPOPULARRECENT