Saturday , December 16 2017

गुजरात फ़साद के मुल्ज़िमीन को सज़ा का ख़ैर मुक़द्दम : मुख़्तलिफ़ क़ाइदीन का ब्यान

हैदराबाद । ०२ सितम्बर‌: नरोडा पाटिया गुजरात फ़सादाद के मुजरिमीन को अदालत की जानिब से सज़ाएं सुनाए जाने का ख़ैर मुक़द्दम करते हुए सदर जमईता उल्मा हिंद आंधरा प्रदेश मौलाना हाफ़िज़ पैर शब्बीर अहमद ऐम अलसी ने कहा है कि येतारीख़ साज़

हैदराबाद । ०२ सितम्बर‌: नरोडा पाटिया गुजरात फ़सादाद के मुजरिमीन को अदालत की जानिब से सज़ाएं सुनाए जाने का ख़ैर मुक़द्दम करते हुए सदर जमईता उल्मा हिंद आंधरा प्रदेश मौलाना हाफ़िज़ पैर शब्बीर अहमद ऐम अलसी ने कहा है कि येतारीख़ साज़ फ़ैसला है और इस से हिंदूस्तानी अदलिया का एतबार और वक़ार बुलंद हुआ है ।

उन्हों ने कहा कि इस घिनाओने और सफ़ाकाना जुर्म का इर्तिकाब करने वालों को जो सख़्त सज़ाएं दी गई हैं । इस से फ़साद करने वाले और फ़सादाद करवाने वाले शरपसंदअनासिर की हौसलाशिकनी होगी। सदर रियास्ती जमईता उल्मा ने कहा कि गुजरात फ़सादाद के और भी मुक़द्दमात के फ़ैसले आने हैं दस साल के तवील अर्सा बाद मुजरिमीन को कैफ़र-ए-किरदार तक पहुंचाया गया है ।

ज़रूरत है कि मुल्क में जहां कहीं भी फ़सादाद होते हैं तो ख़ातियों को इस किस्म की सज़ाएं दी जाएं ताकि फ़िकऱ्ापरस्त अनासिर कोसबक़ मिल सके और मुल्क में अमन-ओ-अमान तरक़्क़ी-ओ-ख़ुशहाली का माहौल बनाए रखा जा सके ।।

TOPPOPULARRECENT