Saturday , December 16 2017

गुजरात में पाकिस्तान से 10 दहश्तगर्द घुसने की इत्तेलाआत

नई दिल्ली: वज़ीर-ए-दाख़िला राजनाथ सिंह ने मुल्क की दाख़िली सिक्योरिटी सूरत-ए-हाल का एसी खु़फ़ीया इत्तेलाआत के तनाज़ुर में जायज़ा लिया कि लश्करे तैयबा और जैश मुहम्मद के 10 मुश्तबा दहश्तगर्द पाकिस्तान से गुजरात के रास्ते हिन्दुस्तान में गुस् चुके हैं। आला सतह की मीटिंग में जहां सरकरदा सिक्योरिटी ओहदेदार बिशमोल मोतमिद दाख़िला राजीव महरीशी और डायरेक्टर आफ़ इंटेलिजेंस ब्यूरो दिनेश्वर शर्मा शरीक हुए, राजनाथ ने सूरत-ए-हाल और किसी भी मुम्किना दहश्तगर्द हमले को रोकने के लिए इक़्दामात का जायज़ा लिया।

सरकारी ज़राए ने कहा कि वज़ीर-ए-दाख़िला को वाक़िफ़ कराया गया कि चार एन एसजी टीमों ने गुजरात के मुख़्तलिफ़ मुक़ामात पर मोर्चे सँभाल लिए हैं और अगर कोई एमरजेंसी पैदा हो तो किसी भी मुक़ाम पर फ़ौरी पहुंच सकते हैं। उन्होंने कहा कि राजनाथ ने इन इक़दामात का भी जायज़ा लिया जो गुजरात में कलीदी मुक़ामात, मज़हबी जगहों और सनती मराकिज़ के अलावा ख़तरात के अंदेशे वाले मेट्रो शहरों में सिक्योरिटी में शिद्दत पैदा करने के लिए किए गए हैं।

अभी तक कोई सुराग़ मुश्तबा दहशतगरदों के ताल्लुक़ से दस्तयाब नहीं हुआ है जो समझा जाता है कि गुजरात में घुस गए हैं, जो उनका बड़ा निशाना हो सकता है। मर्कज़ी सिक्योरिटी एजेंसियों की तरफ‌ से गुजरात और दीगर बड़े मेट्रो पोलीटन सैंटरज़ को पहले ही इन इत्तेलात के पेश-ए-नज़र चौकस कर दिया गया है कि 10 दहशतगर्द आला क़दर वाले मुक़ामात के ख़िलाफ़ हमले अंजाम देने के लिए मग़रिबी रियासत में घुस चुके हैं।

इसी तरह के अलर्ट उत्तरप्रदेश, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, गोवा, मध्य प्रदेश, राजस्थान और चन्दीगढ़ को भी भेजा जा चुका है। ज़राए ने कहा कि पठानकोट फ़िज़ाई अड्डे में 2 जनवरी के दहशतगरदाना हमले के तनाज़ुर में सिक्योरिटी इदारे कोई भी तसाहली से गुरेज़ां हैं और कोई भी मुम्किना दहश्त गिरदाना हमलों के तदारुक के लिए तमाम मुम्किना इक़दामात किए जा रहे हैं|

TOPPOPULARRECENT