Monday , December 18 2017

गुजरात में बी जे पी अरकान पर असेंबली में ब्रहना तसावीर देखने का इल्ज़ाम

कर्नाटक असेंबली के पोर्न गेट (फ़हश फ़िल्म बेनी)स्कैंडल के बाद गुजरात में भी बी जे पी के दो अरकान असेंबली इवान की कार्रवाई के दौरान कंप्यूटर टैब्लेट पर फ़हश फ़िल्म देखने की शिकायत के बाद तहकीकात के दायरा में आ गए हैं। बी जे पी के दो अर

कर्नाटक असेंबली के पोर्न गेट (फ़हश फ़िल्म बेनी)स्कैंडल के बाद गुजरात में भी बी जे पी के दो अरकान असेंबली इवान की कार्रवाई के दौरान कंप्यूटर टैब्लेट पर फ़हश फ़िल्म देखने की शिकायत के बाद तहकीकात के दायरा में आ गए हैं। बी जे पी के दो अरकान असेंबली शंकर चौधरी और जीत भार्द्वाज गुज़श्ता रोज़ असेंबली में कार्रवाई के दौरान कंप्यूटर टैब्लेट पर कुछ देखते हुए नज़र आए थे और इल्ज़ाम आइद किया गया है कि वो किसी औरत की ब्रहना तसावीर देख रहे थे । मुक़ामी ज़बान के एक सहीफ़ा निगार इस बात का पता चलाने के बाद वाक़्या के बारे में स्पीकर से शिकायत की थी ।

सीनीयनर जर्नलिस्ट जनक दादे ने कहा कि वो चौधरी ने अपना टैब्लेट दूसरे रुकन असेंबली भरवाद को दिखाया । इब्तेदा में इन दोनों ने स्वामी विवेकानंदा की तसावीर और इसके बाद चंद कार्टूनस देखा । बादअज़ां ख्वातीन की तसावीर देखते रहे। दादे ने मज़ीद कहा कि मैं समझ गया कि अब गुजरात के एम एल एज़ भी कर्नाटक के एम एल एज़ के नक़श-ए-क़दम पर चल रहे हैं ।

मैंने स्पीकर (गणपत परमार) के चैंबर्स पहुँचकर उनके पी ए से इस ज़िमन में शिकायत की जिन्होंने स्पीकर को मतला किया बाद में अरकान असेंबली ने तसावीर देखना बंद कर दिया। ताहम बी जे पी ने इन इल्ज़ामात की तरदीद की। इस पार्टी के रियासती जनरल सेक्रेटरी विजय रूपाणी ने कहा कि ये इल्ज़ामात ग़लत और बे बुनियाद हैं और कांग्रेस की इमा पर आइद किए गए । रूपाणी ने कहा कि मुझे यक़ीन है कि वो अपने टैब्लेट पर ऐसा मवाद नहीं देख रहे थे । अगर ज़रूरी हो तो इसका भी जायज़ा लिया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT