Friday , December 15 2017

गुजरात में मोदी जी ने शिक्षा जैसे नेक पेशे को बिजनेस के रुप में बदल दिया- राहुल गांधी

नई दिल्ली। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गुजरात के सरकारी शिक्षण संस्थानों में छात्रों से ज्यादा फीस वसूलने को लेकर सवाल किया। राहुल ने गुजरात विधानसभा चुनाव होने मोदी से हर रोज एक सवाल पूछने के अपने वादे के तहत कहा, “22 सालों का हिसाब, गुजरात मांगे जवाब।

गुजरात के हालात पर प्रधानमंत्री जी चौथा सवाल।” राहुल ने मोदी पर शिक्षा जैसे नेक पेशे को गुजरात के सरकारी स्कूलों और कॉलेजों में व्यवसाय के रूप में बदलने का आरोप लगाया।

राहुल ने पूछा, “महंगी फीस छात्रों पर बोझ बन रही है। न्यू इंडिया का सपना कैसे साकार होगा?” उन्होंने आगे कहा, “जब बात शिक्षा में निवेश की आती है तो गुजरात 26वें स्थान पर क्यों है?

हमारे युवाओं ने क्या गलती की है?” राहुल ने गुजरात चुनाव होने तक हर रोज मोदी से एक सवाल पूछे जाने की रणनीति के तहत यह सवाल पूछा।

राहुल ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर 2012-2016 के बीच सरकारी बिजली कंपनियों की बिजली उत्पादन क्षमता घटाने और निजी कंपनियों से ऊंची दरों पर बिजली खरीदने का आरोप लगाया।

राहुल ने गुरुवार को गुजरात पर 2,41,000 करोड़ रुपये के बढ़े ऋण के लिए प्रधानमंत्री को आड़े हाथों लिया था और कहा था कि यह मोदी के कुप्रबंधन और प्रचार के चलते हुआ। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि राज्य के लोगों को इसकी सजा क्यो मिले?

कांग्रेस ने बुधवार को मोदी से 2012 के उस वादे के बारे में पूछा था, जिसमें उन्होंने गुजरात के लोगों को 50 लाख नए घर उपलब्ध कराने की बात कही थी। गुजरात में दो दशकों से अधिक समय से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार है।

TOPPOPULARRECENT