गुजरात में हिंदू वोटरों को लुभाने के लिए RSS ने उतारे 1400 खास कार्यकर्ता

गुजरात में हिंदू वोटरों को लुभाने के लिए RSS ने उतारे 1400 खास कार्यकर्ता
Click for full image

गुजरात: गुजरात में युवा नेताओं के उभार से आरएसएस के माथे पर चिंता की लकीरे आने लगी हैं। आरएसएस ने हार्दिक पटेल, जिग्नेश मेवानी और अल्पेश ठाकुर जैसे नेताओं का प्रभाव को कम करने के लिए अपने 12 विभागों को मतदाताओं को समझाने का जिम्मा सौंपा है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

आरएसएस के सूत्रों के मुताबिक संगठन के कार्यकर्ता गुजरात के मतदाताओं खासकर युवाओं से एक-एक कर मिलेंगे और उन्हें बीजेपी के समर्थन में वोट करने को लेकर समझाएंगे। इस काम के लिए आरएसएस ने 15 सदस्यों वाली एक समिति बनायी है जो इस अभियान का संचालन करेगी।

आरएसएस अपने स्वयंसेवकों और प्रचारकों के लिए एक विशेष बैठक का भी आयोजन कर रहा है जिसमें गुजरात की वर्तमान राजनीतिक स्थिति की चर्चा की जाएगी। आरएसएस का हर नेता उस दिए गये इलाके में हर घर में जाकर लोगों से मिलेगा और हिंदू समाज के लोगों से चर्चा करेगा। आरएसएस इस अभियान के लिए एक व्हाट्सऐप ग्रुप और ‘संदर्भ’ नाम की ब्रॉडकॉस्ट लिस्ट भी बना रहा है। आरएसएस के सूत्रों के अनुसार इन व्हाट्सऐप ग्रुप इत्यादि मकसद “मतदाताओं की सोच के लिए प्रेरित करना” है।

वहीँ आरएसएस के एक नेता ने बताया कि 176 तहसीलों में करीब 1400 सामाजिक सद्भाव कार्यकर्ता मौजूद हैं। इस अभियान में “सामाजिक नेतृत्वकर्ता” नमक प्रचारक सामाजिक सद्भाव कार्यकर्ताओं की मदद करेंगे।

Top Stories