Thursday , July 19 2018

गुजरात विधानसभा चुनाव परिणाम पर टिकी चीन, अमेरिका समेत कई देशों की नजरें

गुजरात विधानसभा चुनाव का परिणाम आज सुबह घोषित होगा। यह पहला चुनाव होगा जिस पर अमेरिका, चीन सहित कई देशों की नजरें है।…

अहमदाबाद : गुजरात विधानसभा चुनाव का परिणाम सोमवार सुबह घोषित होगा। गुजरात के चुनाव परिणाम पर देश ही नहीं विदेशों की भी नजरें टिकी है, भाजपा व कांग्रेस ने इस चुनाव में अपनी पूरी ताकत झौंक दी जिससे चुनावी रंगत पूरे शबाब पर पहुंच गई। शायद यह पहला चुनाव होगा जिस पर अमेरिका, चीन सहित कई देशों की नजरें है। चीन के सरकारी पत्र ग्लोबल टाइम्स ने तो भाजपा के जीत की उम्मीद भी जताई है।

राज्य में 37 स्थलों पर बनाए गए स्ट्रोंग रूम में ईवीएम व वीवीपीएट मशीनों को रखा गया है। अर्धसैनिक बलों की तीन स्तरीय सुरक्षा में इनको सुरक्षित रखा गया है लेकिन पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने भाजपा पर ईवीएम को हैक कराने के लिए 140 इंजीनियर काम पर लगाने का सनसनीखेज आरोप लगाया है।

कांग्रेस ने ईवीएम हैक करने की आशंका के चलते अपने कार्यकर्ताओं को भी पहरे पर बिठाया है। कांग्रेस नेता अर्जुन मोढवाडिया ने बताया कि कांग्रेस प्रत्याशियों ने ईवीएम की सुरक्षा के लिए अपने कार्यकर्ताओं को सुरक्षा में लगा रखा है।

हार्दिक ने धमकी देते हुए कहा कि अगर ईवीएम की गडबड़ी से 18 दिसंबर के दिन भाजपा की जीत होती है तो बड़ा आंदोलन किया जायेगा और पूरा गुजरात सड़क पर उतर आयेगा। यह आंदोलन ईवीएम पद्धति के खिलाफ किया जायेगा। इसके अलावा आरक्षण आंदोलन भी जारी रहेगा। हार्दिक ने कहा कि गुजरात में सभी समाज के लोग भाजपा से नाराज है। जिससे भाजपा के जीतने का सवाल ही नहीं पैदा होता है । अगर ईवीएम में कोई गड़बड़ी नहीं होती है तो भाजपा को 82 सीट भी नहीं मिलेगी।

भाजपा की ओर से खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मैदान में थे तो कांग्रेस की कमान राहुल गांधी ने संभाली। इस चुनाव में मोदी ने 28 हजार 119 किमी की यात्रा की वहीं राहुल ने 21 हजार 110 किमी की। शब्दों के मायाजाल में चुनाव उलझा तो फिर नेताओं ने सारी मर्यादाएं भी लांघ दी।
भगवान द्वारकाधीश से शुरु हुआ गुजरात कांग्रेस का चुनाव अभियान अहमदाबाद के आराध्य देव भगवान जगन्नाथ मंदिर से पूरा हुआ, इससे पहले राहुल ने पूरे गुजरात में दो दर्जन से अधिक मंदिरों में दर्शन की व आरती उतारी। पीएम मोदी ने भी अपनी हर यात्रा में मंदिर दर्शन किए लेकिन सोमनाथ, द्वारिका व अक्षरधाम मंदिर में इन दोनों ही नेताओं की मुलाकात यादगार रही।

पीएम मोदी ने चुनाव प्रचार के आखिरी दिन सी प्लेन में उडकर चुनाव को नई तकनीकी धार दी। इससे पहले थ्री डी तकनीक का उपयोग करने वाले भी मोदी पहले नेता थे। भाजपा ने चुनाव प्रचार में जादूगरों की 36 टीम उतारी जिसके भी खूब चर्चे रहे इसके अलावा पीएम की सभा, रैली, रोड शो, नमो ऐप पर भाजपा महिला मोर्चा को संबोधन हो या आॅडियो ब्रिज के जरिए ओबीसी नेता व प्रतिनिधियों को संबोधित करना भी मीडिया की सुर्खियां बना।

उधर राहुल गांधी ने अपनी मासूम प्रशंसक दसवीं की छात्रा मंताशा के साथ सेल्फी खिंचवाना तो कहीं बचचे को गोद में उठा लेना चर्चा का विषय बना। एक सभा में बुजूर्ग महिला शिक्षक ने व्यथा सुनाई तो राहुल ने उसे गले लगकर ढाढस बंधाया वहीं मंच पर ग्रामीण बुजूर्गों के साथ गले मिलते नजर आए।

TOPPOPULARRECENT