गुलबर्ग सोसायटी नरसंहार: अब नौ जून को सुनायी जायेगी सजा

गुलबर्ग सोसायटी नरसंहार: अब नौ जून को सुनायी जायेगी सजा

गुजरात के गोधरा में 27 फरवरी 2002 को साबरमती एक्सप्रेस के एक डिब्बे को जलाये जाने के एक दिन बाद यहां मेघाणीनगर इलाके में अल्पसंख्यक समुदाय के परिवारों की रिहायश वाले गुलबर्ग सोसायटी में भीड द्वारा जिंदा जला कर मार दिये गये 69 लोगों, जिनमें कांग्रेस के पूर्व सांसद एहसान जाफरी भी शामिल थे, से जुडे चर्चित गुलबर्ग सोसायटी नरसंहार मामले में दोषी ठहराये गये 24 लोगों को सजा सुनाये जाने के बिंदु यहां एक विशेष अदालत में सुनवाई जारी रही।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) के वकील आर सी कोडकर ने एसआईटी अदालत के न्यायाधीश पी बी देसाई से 24 में से 11 दोषियों जिन्हें हत्या का दोषी ठहराया गया है को फांसी की सजा देने की मांग की।

Top Stories