Friday , July 20 2018

गुलाम अहमद हत्याकांड- हिंदू युवा वाहिनी के दवाब में गाँव छोड़ने को मजबूर हुआ परिवार

उत्तर प्रदेश में एक मुस्लिम व्यक्ति जिसकी गत वर्ष हिंदू युवा वाहिनी के सदस्यों ने कथित तौर पर हत्या कर दी, उसके परिवार ने दावा किया है कि आरोपी उन पर हत्या का मामला वापस लेने का दबाव डाल रहे हैं।
गुलाम अहमद के परिवार के सदस्यों ने दावा किया कि हाल में एक स्थानीय अदालत द्वारा जमानत पर रिहा किये गए पांच आरोपियों की ओर से प्रताड़ित किये जाने के चलते उन्होंने अपना सोनी गांव छोड़ने का निर्णय किया है। गुलाम अहमद की गत वर्ष दो मई को पीट पीटकर हत्या कर दी गई थी।

ऐसा एक मुस्लिम युवक द्वारा कथित रूप से एक हिंदू लड़की का अपहरण करने के बाद किया गया था। अहमद को आरोपी एक आम के बागान से खींचकर एक सुनसान स्थान पर ले गए थे और वहां उसे पीट पीटकर मार डाला।
अहमद के पुत्र शकील ने दावा किया कि आरोपी गांव वापस आने के बाद उस पर हत्या का मामला वापस लेने के लिए दबाव डाल रहे हैं। शकील की पत्नी सितारा ने दावा किया कि उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है इसलिए 13 व्यक्तियों के परिवार ने गांव छोड़ने का निर्णय किया है।
पुलिस अधीक्षक रईस अख्तर ने कहा कि पुलिस को मामले की जानकारी है और जरूरी कार्रवाई की जाएगी।
TOPPOPULARRECENT