Thursday , June 21 2018

गुस्ताखाना फ़िल्म के ख़िलाफ़ दरख़ास्त रजिस्ट्रार कोर्ट को हिदायत

मुंबई, २५ सितंबर (पी टी आई) बंबई हाइकोर्ट ने आज ये एहसास ज़ाहिर किया कि मुतनाज़ा ( विवादित) फ़िल्म पर इमतिना ( प्रतिबंध) से मुताल्लिक़ दरख़ास्त मफ़ाद-ए-आम्मा ( जन कल्याण) नवीत की है और रजिस्ट्रार कोर्ट को हिदायत दी कि इस दरख़ास्त का जायज़ा

मुंबई, २५ सितंबर (पी टी आई) बंबई हाइकोर्ट ने आज ये एहसास ज़ाहिर किया कि मुतनाज़ा ( विवादित) फ़िल्म पर इमतिना ( प्रतिबंध) से मुताल्लिक़ दरख़ास्त मफ़ाद-ए-आम्मा ( जन कल्याण) नवीत की है और रजिस्ट्रार कोर्ट को हिदायत दी कि इस दरख़ास्त का जायज़ा लेते हुए समाअत ( सुनवाई) के लिए मौज़ूं बंच के रूबरू पेश करे।

कांग्रेस रुकन ( सदस्य) अमीन मुस्तफ़ा इदरीसी ने रिट दरख़ास्त दायर करते हुए हुकूमत महाराष्ट्रा को ये फ़िल्म मुख़्तलिफ़ वेब साईट्स जैसे गूगल और यूट्यूब से हज़फ़ (अलग कर देने के लिए) करने की हिदायत देने की ख़ाहिश की थी। दरख़ास्त गुज़ार के वकील एजाज़ नक़वी ने कहा कि इन के मुवक्किल इस मुआमला को मफ़ाद-ए-आम्मा की दरख़ास्त में तब्दील नहीं करना चाहते क्योंकि ये अवाम के वसीअ तर ( लंबे समय तक के लिए) मुफ़ाद में नहीं है ।

नक़वी ने बादअज़ां ये मुआमला चीफ जस्टिस मोहित शाह के रूबरू पेश किया जिन्होंने समाअत ( सुनवाई) के लिए तारीख के अनक़रीब दिन का तयक्कुन दिया। दरख़ास्त गुज़ार इदरीसी ने गूगल के सरकरदा ओहदेदारान के ख़िलाफ़ फ़ौजदारी कार्रवाई का मुतालिबा किया है जिन्होंने इसी फ़िल्म की नुमाइश की जिस से दुनिया भर में मुसलमानों के मज़हबी जज़बात मजरूह (जख्मी/ घायल) हुए।

उन्होंने ये भी कहा कि इस फ़िल्म को फ़ौरी वेब साईट से हटाया नहीं गया तो ला एंड आर्डर के संगीन मसाइल ( कठोर समस्याएं) पैदा हो सकते हैं।

TOPPOPULARRECENT