Saturday , June 23 2018

गुस्ताख मुसन्निफ़ा तस्लीमा नसरीन की किताब का आज कोलकता में इजरा

कोलकता, ०१ फरवरी (पी टी आई) गुस्ताख मुसन्निफ़ा तस्लीमा नसरीन की सवानिह हयात "नर बिसन "(जिलावतनी) के सातवें हिस्सा की कल कोलकता बुक फेयर में रस्म इजरा अंजाम दी जा रही है । इस किताब में गुस्ताख बंगला देशी मुसन्निफ़ा ने 2007 में कोलकता से इख़र

कोलकता, ०१ फरवरी (पी टी आई) गुस्ताख मुसन्निफ़ा तस्लीमा नसरीन की सवानिह हयात “नर बिसन “(जिलावतनी) के सातवें हिस्सा की कल कोलकता बुक फेयर में रस्म इजरा अंजाम दी जा रही है । इस किताब में गुस्ताख बंगला देशी मुसन्निफ़ा ने 2007 में कोलकता से इख़राज के वाक़ियात का तज़किरा किया है ।

इसने हिंदूस्तान में कोलकता को अपनी जाय सुकूनत बना लिया था लेकिन अवाम के ग़ैरमामूली एहतिजाज की वजह से हुक्काम ने उसे शहर छोड़ने पर मजबूर कर दिया । तस्लीमा नसरीन 1994 में बंगला देश से इख़राज के बाद मुसलसल जिलावतनी की ज़िंदगी गुज़ार रही है।

कोलकता के पबलीशर पीपल्ज़ बुक सोसाइटी ने कहा कि इस किताब की इजराई पर हमें धमकियां मिल रही हैं लेकिन हम दबाव में नहीं आएंगे |

TOPPOPULARRECENT