Saturday , May 26 2018

गैंगस्टर नईम का हिज़्ब उल-मुजाहिदीन सरबराह सलाहुद्दीन से रब्त!

हैदराबाद 12 अगस्त: गैंगस्टर मुहम्मद नईमुद्दीन उर्फ़ भोंगीर नईम के एनकाउंटर के वाक़िये के दौरान और इस के मकान से ज़बत होने वाले ए के 47 राइफल्स की बरामदगी पर रियासती पुलिस तशवीश का शिकार हो गई है।

बावसूक़ ज़राए ने बताया कि साल 2005 में नईम ने पाकिस्तान की दहश्तगर्द तंज़ीम हिज़्ब उल-मुजाहिदीन के सरबराह सय्यद मुहम्मद यूसुफ़ शाह उर्फ़ सय्यद सलाहुद्दीन से राबिता क़ायम करते हुए AK47 राइफल्स की स्मगलिंग की नाकाम कोशिश की थी जिसे अजमेर पुलिस ने नाकाम बनादिया था।

बताया जाता है कि एक ट्रक जो मार्बल से लदा हुआ था , इस में AK47 की स्मगलिंग की जा रही थी लेकिन पुलिस ने उसे रोक लिया और ड्राईवर को गिरफ़्तार करते हुए हैदराबाद पुलिस को मतला किया चुनांचे 26 दिसम्बर 2005 को कमिशनर टास्क फ़ोर्स ने टोलीचौकी से ताल्लुक़ रखने वाले हिज़्ब उल-मुजाहिदीन के ख़ुदसाख़ता कमांडर मुजीब अहमद उर्फ़ अहमद भाई को गिरफ़्तार कर लिया था।इस तरह AK47 राइफल्स की स्मगलिंग का मन्सूबा नाकाम हो गया। पुलिस को शुबा है कि 2005 में AK47 राइफल्स की स्मगलिंग की नाकाम कोशिश के बाद उसने दुसरे ज़राए से मज़कूरा राइफल्स हासिल किए होंगे। जिसकी तफ़सीली तहक़ीक़ात की जा रही है। पुलिस ने इस कार्रवाई में मुजीब अहमद के अलावा उस के दुसरे साथी एक ख़ातून और दुसरे रिश्तेदारों को गिरफ़्तार किया था। जबकि नईम को इस केस में मफ़रूर क़रार देते हुए सय्यद सलाहुद्दीन से राबिता रखने के इल्ज़ाम में अदालत में तफ़सीलात दाख़िल की थी।

TOPPOPULARRECENT