Wednesday , December 13 2017

गैर कानूनी वसूली के लिए ड्राइवर को दौड़ा-दौड़ा कर दी मौत की सजा

फुलवारीशरीफ में बुध की सुबह गैर कानूनी वसूली कर रही पुलिस को 20 रुपये नहीं देने की सजा एक ट्रैक्टर ड्राइवर को मौत के तौर में मिली। पैसे नहीं देने पर पुलिसवालों ने जीप से ट्रैक्टर को दो किलोमीटर तक खदेड़ा। पुलिस से अपने को घिरा देख क

फुलवारीशरीफ में बुध की सुबह गैर कानूनी वसूली कर रही पुलिस को 20 रुपये नहीं देने की सजा एक ट्रैक्टर ड्राइवर को मौत के तौर में मिली। पैसे नहीं देने पर पुलिसवालों ने जीप से ट्रैक्टर को दो किलोमीटर तक खदेड़ा। पुलिस से अपने को घिरा देख कर ड्राइवर ट्रैक्टर को छोड़ कर भागने लगा, तभी वह एक बस की चपेट में आकर जख्मी हो गया।

अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। वाकिया के बाद गुस्साये लोगों ने सड़क को जाम कर मुजाहिरा किया। इधर एसएसपी मनु महाराज ने पैसा वसूलनेवाले फुलवारीशरीफ थाने के जमादार वसंत कुमार तिवारी, पांच सिपाही और जीप ड्राइवर रणधीर को मूअत्तिल कर दिया है। एसएसपी के हुक्म पर जमादार वसंत कुमार तिवारी को गिरफ्तार कर लिया गया है। जुमेरात को उन्हें जेल भेजा जायेगा।

आयनी शाहेदीन के मुताबिक, सुबह टमटम पड़ाव, जगदेव पथ मोड़ के पास फुलवारीशरीफ थाने के गश्त लगानेवाले पुलिस जीप लगा कर बालू लदे ट्रैक्टरों से वसूली कर रहे थे। इसी दौरान एक ट्रैक्टर ड्राइवर गुड्डू (गौरीमौला, नौबतपुर का रहने वाला) पुलिस को बिना पैसा दिये पटना की तरफ भागने लगा। यह बात पुलिस को नागवार गुजरी और पुलिसवाले जीप से उसे खदेड़ने लगे। साकेत विहार के पास पुलिस ने ट्रैक्टर को ओवरटेक कर उसे आगे से घेर लिया। अपने को पुलिस से घिरा देख कर ड्राइवर ने ट्रैक्टर छोड़ दिया और सड़क पार कर भागने लगा। इसी दौरान पटना से पालीगंज जा रही बस ने सामने से उसे कुचल डाला। इसके बाद पुलिस जीप वहां से वाल्मीचक-करोड़ीचक की तरफ भाग गयी। इत्तिला मिलते ही डीएसपी शिबली नोमानी और फुलवारीशरीफ के डीएसपी इम्तियाज अहमद जाये हादसा पर पहुंचे और लोगों को समझा-बुझा कर मामला पुर अमन कराया।

कत्ल का मामला दर्ज करने की मांग

लोगों ने पुलिस के आला अफसरों से मुजरिम पुलिसवालों के खिलाफ कत्ल का मामला दर्ज करने की मुताल्बा की। डीएसपी की रिपोर्ट को देखते हुए एसएसपी मनु महाराज ने वसूली करनेवाले फुलवारीशरीफ थाने के जमादार वसंत कुमार तिवारी को मूअत्तिल करते हुए उनकी गिरफ्तारी कर जेल भेजने का हुक्म दिया, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। जुमेरात को उन्हें जेल भेजा जायेगा। जमादार के साथ मौके पर रहे पांच सिपाहियों और जीप ड्राइवर रणधीर को भी एसएसपी ने मूअत्तिल कर दिया है। एसएसपी ने बताया कि जांच की जा रही है। किसी भी कीमत पर मुजरिमों को बख्शा नहीं जायेगा।

TOPPOPULARRECENT