Tuesday , June 19 2018

गैर दयानतदार लोगों की 30 दिसंबर के बाद तबाही: नरेंद्र मोदी

मुंबई 25 दिसंबर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चेतावनी दी है कि 30 दिसंबर के बाद ‘गैर दयानतदार’ लोगों की अधिक ‘विनाश’ होगी। उन्होंने कहा कि सरकार देश के मुफ़ाद में सख़्त फैसलों से गुरेज़ नहीं करेगी और पूंजी मारकटस में अधिक टैक्सेस की ताईद की। जनसभाओं को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने गैर दयानतदार लोगों से कहा कि वह भ्रष्टाचार के खिलाफ देश के मूड को महत्वहीन न समझें। गैर दयानतदार लोगों को 125 करोड़ जनता के मूड के बारे में गलत अंदाज़ा क़ायम नहीं करना चाहिए। आप को उनसे डरना चाहिए।

समय आ गया है कि गैर दयानतदार लोगों का सफाया कर दिया जाए। यह एक सफाई अभियान है। प्रधानमंत्री ने यह बात तब कही जब नोटबंदी 500/1000 रुपये मुद्रा बैंकों में जमा की अवधि 30 दिसंबर को समाप्त हो रहा है। उन्होंने कहा कि 50 दिन के बाद दयानतदार लोगों की परेशानियों को कम करने और गैर दयानतदार लोगों की कठिनाइयों बढ़नी शुरू होगी। उन्होंने एक प्रोग्राम में ठोस मआशी पालिसीयों की ताईद की जो मुख़्तसर मुद्दती सियासी फ़ायदे के लिए नहीं बल्कि वसी-तर क़ौमी मुफ़ाद में होंगी।

मोदी ने कहा कि वह स्पष्ट तौर से यह कहना चाहते हैं कि सरकार ठोस और मआशी पालिसीयों को जारी रखेगी ताकि भविष्य उज्जवल हो सके। हम केवल अपनी कारकर्दगी दिखाने के लिए मुख़्तसर मुद्दती पालिसीयां इख़तियार नहीं करेंगे। उन्होंने मार्कीट के मुख़्तलिफ़ फ़रीक़ैन से साफ़-शफ़्फ़ाफ़ और बेहतर अंदाज़ में टैक्स हिस्सादारी में इज़ाफे की ताईद की। प्रधानमंत्री के ये रिमार्कस एक फरवरी को पेश किए जाने वाले बजट के संदर्भ में महत्व रखते हैं।

नोटबंदी का विरोध करने वाली दलों की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा, ‘यह कोई आसान लड़ाई नहीं’ वह तो सारी मलाई खा गए और नोटबंदी को विफल करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी।

TOPPOPULARRECENT