Wednesday , December 13 2017

गैर मुंजिम मुलाज़िम के लिए इंसुरेंश मंसूबा बंदी जल्द

वजीरे आल रघुवर दास ने कहा कि हुकूमत जल्द ही झारखंड गैर मुंजिम मुलाज़िम सामाजिक तहफ्फुज मंजूबा बंदी लागू करेगी। इस मंसूबा का फाइदा रियासत के गैर मुंजिम हल्के में काम करनेवाले रजिस्टर्ड मुलाज़िम को हासिल होगा।

वजीरे आल रघुवर दास ने कहा कि हुकूमत जल्द ही झारखंड गैर मुंजिम मुलाज़िम सामाजिक तहफ्फुज मंजूबा बंदी लागू करेगी। इस मंसूबा का फाइदा रियासत के गैर मुंजिम हल्के में काम करनेवाले रजिस्टर्ड मुलाज़िम को हासिल होगा।

उनके लिए हुकूमत इन्शुरेंस मंसूबा बंदी शुरू करने जा रही है। गौरतलब है कि लेबर वसायल और तरबियत महकमा के जरिये शुरू की जा रही इस मंसूबा के तहत 18 से 59 साल की उम्र के रजिस्टर्ड मुलाज़िम की किसी हादसा में मौत होने पर उनके अहले खाना को एक लाख रुपये, पूरी तरह से माज़ूर होने की हालत में 75 हजार रुपये, कम माज़ूर में 37500 रुपये और नैचुरल डेथ में 30 हजार रुपये के ग्रांट की फराहमी रखा गया है।

इस मंसूबा के तहत उनके बच्चों को वजीफा और असाध्य रोगों के इलाज के लिए पूरी इलाज़ खर्ज का भी तजवीज है। मंसूबा का अमल जिला सतह पर नायब तरक़्क़ी कमिश्नर के जरिये से किया जायेगा।

TOPPOPULARRECENT