Sunday , December 17 2017

गैस पर सब्सिडी चाहिए, तो दो फॉर्म भरने ही पड़ेंगे

1 जनवरी 2015 से डीबीटीएल (डायरेक्ट बनीफिट कैश ट्रांसफर) मंसूबा के तहत रसोई गैस पर सब्सिडी की सर्विस शुरू की जा रही है। इस सर्विस का फाइदा उठानेवाले ग्राहकों को आधार लिंक कराना होगा। अगर वे आधार लिंक नहीं कराते हैं तो उन्हें दो अलग-अलग

1 जनवरी 2015 से डीबीटीएल (डायरेक्ट बनीफिट कैश ट्रांसफर) मंसूबा के तहत रसोई गैस पर सब्सिडी की सर्विस शुरू की जा रही है। इस सर्विस का फाइदा उठानेवाले ग्राहकों को आधार लिंक कराना होगा। अगर वे आधार लिंक नहीं कराते हैं तो उन्हें दो अलग-अलग फॉर्म भर कर जमा कराने होंगे। एक फॉर्म बैंक में, दूसरा गैस एजेंसी के दफ्तर में जमा होंगे।

आधार है या नहीं है, इसके लिए चार अलग-अलग फॉर्म पेट्रोलियम वज़ारत की तरफ से जारी किये हैं, इनमें से दो फॉर्म हर गाहक को भरने होंगे। जिनके पास आधार है, उन्हें एक फॉर्म बैंक में और दूसरा गैस एजेंसी के पास और जिनके पास आधार नहीं है, उन्हें सब्सिडी लेने के लिए एक फॉर्म बैंक में और दूसरा एजेंसी के पास जमा कराना होगा।

चारों फॉर्म गैस एजेंसी में दस्तयाब है। हर फॉर्म के नीचे पावती स्लिप (एकनॉलेजमेंट स्लिप) है, जिसे भर कर मुतल्लिक़ फरीक़ बैंक-डिस्ट्रीब्यूटर अपनी मुहर लगाकर सारफीन को वापस करेगा। मुस्तकबिल में गाहक और डिस्ट्रीब्यूटर के दरमियान किसी भी तनाजे पर यह स्लिप काम करेगी। तौसिह जानकारी के लिए गाहक सीधे डिस्ट्रीब्यूटर से राब्ता कर जानकारी हासिल कर सकते हैं।

43 फीसद लोग जुड़े आधार से

डीबीटीएल (डायरेक्ट बनीफिट कैश ट्रांसफर) मंसूबा का फाइदा हर किसी को मिले, इसको लेकर तजवीज बैठक का एंकाद गम्हरिया वाकेय प्लांट में किया गया था। इस बैठक में चीफ एरिया मैनेजर उदय कुमार, सेल्स ऑफिसर आलोक शर्मा, सीनियर सेल्स मैनेजर एस आइंद, सीनियर प्लांट मैनेजर एनआर दास व दीगर ओहदेदार मौजूद थे। इसमें जानकारी दी गयी कि अब तक 43 फीसद लोगों ने ही आधार कार्ड को डीबीटीएल से लिंकअप कराया है। 31 दिसंबर तक 100 फीसद होगा यह मुमकिन मालूम नहीं हो रहा है।

TOPPOPULARRECENT