Friday , May 25 2018

गोमो में नक्सलियों ने रेलवे ट्रैक उड़ाया

ज़मीन तहवील कानून के खिलाफ झारखंड समेत तीन रियासतों में बुलाए गए नक्सली बंद के बुध आधी रात से शुरू होते ही नक्सलियों ने गोमो स्टेशन से पांच किलोमीटर दूर भोलीडीह हॉल्ट के पास रेलवे ट्रैक उड़ा दिया। धमाका इतना ताकतवर था कि ट्रैक के प

ज़मीन तहवील कानून के खिलाफ झारखंड समेत तीन रियासतों में बुलाए गए नक्सली बंद के बुध आधी रात से शुरू होते ही नक्सलियों ने गोमो स्टेशन से पांच किलोमीटर दूर भोलीडीह हॉल्ट के पास रेलवे ट्रैक उड़ा दिया। धमाका इतना ताकतवर था कि ट्रैक के पास तीन फीट गड्ढा और तीन से चार मीटर पटरी उड़ गई है। ओवरहेड तार भी नुकसान हो गया है। धमाके से कुछ ही मिनट पहले ही इस ट्रैक से अप ग्वालियर-हावड़ा एक्सप्रेस गुजरी थी। गनीमत रही कि ट्रेन को कोई नुकसान नहीं पहुंचा।

धमाके की आवाज सुनकर भोलीडीह हॉल्ट के गेटमैन ने गोमो कंट्रोल को इत्तिला दी। पूरे रेलवे महकमे में खलबली मच गई। इत्तिला पाते ही अप हावड़ा-ग्वालियर अप एक्सप्रेस को गोमो स्टेशन के फौरन बाद रोक दिया गया। नीलांचल एक्सप्रेस को गोमो और कालका को तेतुलमारी में रोक दिया गया है। गोमो से आगे किसी भी ट्रेन को जाने नहीं दिया जा रहा है। धनबाद से मदद के लिए यान गोमो पहुंच गया है। लेकिन सेक्युर्टी वज़हों से मदद की बोगी को गोमो में ही रोक कर रखा गया है।

गंगा-दामोदर एक्सप्रेस को गोमो से वापस लौटाकर जसीडीह-झाझा मेनलाइन होते हुए पटना के लिए रवाना किया गया। वाकिया से कुछ ही देर पहले इसी ट्रैक से धनबाद-लुधियाना एक्सप्रेस गुजरी थी। भोलीडीह नक्सल मुतासीर इलाका है। नक्सली यहां पहले भी कई वारदात को अंजाम दे चुके हैं। पास ही इंतेहाई नक्सल मुतासीर निमियाघाट का इलाका है। रेलवे के मुताबिक मरम्मत का काम जुमेरात की सुबह से शुरू होगा। इसमें कम से कम आठ-दस घंटे लगेंगे।

TOPPOPULARRECENT