Monday , December 18 2017

गोवा में किराए की मोटर साइक़लों पर इम्तिना ( प्रतिबंध/रोक) ज़ेर-ए-ग़ौर

हुकूमत गोवा इस बात पर ग़ौर-ओ-ख़ौज़(सोंच विचार) कर रही है कि रेंट बाईक स्कीम के तहत रजिस्टर्ड शूदा बाईक़्स के सिलसिला को रोक दिया जाए या नहीं क्योंकि मज़कूरा स्कीम के तहत ज़्यादा तर मोटर साईकल्स को किराए पर दिया जा रहा है।

हुकूमत गोवा इस बात पर ग़ौर-ओ-ख़ौज़(सोंच विचार) कर रही है कि रेंट बाईक स्कीम के तहत रजिस्टर्ड शूदा बाईक़्स के सिलसिला को रोक दिया जाए या नहीं क्योंकि मज़कूरा स्कीम के तहत ज़्यादा तर मोटर साईकल्स को किराए पर दिया जा रहा है।

रियास्ती ट्रांसपोर्ट डायरेक्टर अरूण देसाई ने कहा कि स्टेट ट्रांसपोर्ट अथॉरीटी (STA) का मुस्तक़बिल क़रीब में एक इजलास ( सभा) मुनाक़िद ( आयोजित) शुदणी है, जहां इस बात पर ग़ौर किया जाएगा कि रेंट -ए- बाईक स्कीम के तहत मोटर साईकलों की तादाद पर इम्तिना आइद ( रोक लगाना) किया जाए।

गोवा आने वाले सय्याहों (पर्यटको) में मोटर साईकलों की ज़बरदस्त मांग है और इसी नुक्ता को मद्द‍ ए‍ नज़र ( ध्यान में) रखते हुए मोटर साईकलों को किराए पर देने की इजाज़त दी गई थी, जिस पर लोगों ने स्कीम का फ़ायदा उठाते हुए मोटर साईकलें ख़रीदना शुरू कर दी और उन्हें सय्याहों ( पर्यटकों) के सीज़न के मुताबिक़ 250 से 1500 रुपये यौमिया किराए पर देना शुरू कर दिया।

दूसरी तरफ़ रिवायती टूरिस्ट टैक्सी ड्राईवर्स का कारोबार मोटर साईकलों की वजह से मुतास्सिर ( प्रभावित) होने लगा। उन्होंने मोटर साईकलों की तादाद ( संख्या) पर रोक लगाने का मुतालिबा किया। मिस्टर देसाई ने कहा कि रेंट ए बाईक स्कीम के तहत गोवा में तक़रीबन ( अंदाज़न) 14000 बाईक़्स मौजूद हैं।

TOPPOPULARRECENT