Friday , December 15 2017

गौ तस्करों ने पुलिस की टीम पर की फायरिंग, बांग्लादेश ले जाई जा रही थी गायें

गौ तस्करों ने गुरुवार को पुलिस की टीम पर फायरिंग कर दी। पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की, इसमें एक गौ तस्कर गंभीर रुप से घायल हो गया। उसे डिब्रूगढ़ में असम मेडिकल कॉलेज व अस्पताल में भर्ती कराया गया है। गौ तस्करों व पुलिस के बीच शूटआउट गुरुवार रात माकुम बाईपास क्षेत्र में हुआ।

असम के न्यूज चैनल टाइम 8 ने माकुम के सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि दो ट्रक जिनके नंबर एएस-23-बीसी-6139 और एएस-23-बीसी-6186 है, को दुमदुमा क्षेत्र में एक बोलेरो के साथ पकड़ा गया। माकुम पुलिस थाने के प्रबारी भास्कर सैकिया ने बताया कि पुलिस बल ट्रकों का पीछा कर रहे थे लेकिन बोलेरो गाड़ी ने रास्ता रोक लिया, इसके कारण दोनों ट्रक वहां से भाग गए। बाद में राष्ट्रीय राजमार्ग 37 में मोकुम पहुंचने पर बोलोरो में बैठे कुछ लोगों ने हमारे पुलिस कर्मियों पर फायरिंग शुरू कर दी। शुरुआत में जब उन्होंने फायरिंग की तो उन्हें संदेह हुआ कि वे ये उल्फा-आई के कैडर्स हैं।

जवाबी फायरिंग में बोलेरो का ड्राइवर जिसकी पहचान नोमान सिद्दिक के रूप में हुई, जो घायल हो गया। उसे डिब्रूगढ़ में असम मेडिकल कॉलेज व अस्पताल में शिफ्ट किया गया। दो और लोगों को पकड़ा गया है, जिनकी पहचान चौकहातुल इस्लाम बोराह और राजू अहमद के रूप में हुई है। ये दोनों भी उसी बोलेरो में सवार थे,जहां से पुलिस कर्मियों पर फायरिंग हुई थी। ऑपरेशन के दौरान माकुम पुलिस ने दुमदुमा क्षेत्र से दो ट्रकों को बरामद किया। इन ट्रकों में 38 मवेशी लदे थे। इन मवेशियों को तस्करी के जरिए पड़ोसी देश बांग्लादेश पहुंचाया जा रहा था।

TOPPOPULARRECENT