Thursday , December 14 2017

घर वालों ने की सरबजीत सिंह से मुलाकात

नई दिल्ली, 28 अप्रैल: लाहौर के जिन्ना अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे हिंदुस्तानी शहरी सरबजीत से मिलने के लिए उनके घर वाले आज बाघा बार्डर के रास्ते लाहौर पहुंचे। सबसे पहले घर वालों ने अस्पताल पहुंच सरबजीत से मुलाकात की। उनक

नई दिल्ली, 28 अप्रैल: लाहौर के जिन्ना अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे हिंदुस्तानी शहरी सरबजीत से मिलने के लिए उनके घर वाले आज बाघा बार्डर के रास्ते लाहौर पहुंचे। सबसे पहले घर वालों ने अस्पताल पहुंच सरबजीत से मुलाकात की। उनका कहना है कि सरबजीत की हालत नाज़ुक है।

पाकिस्तान रवाना होने से पहले घरवालों ने स्वर्ण मंदिर में माथा टेका और सरबजीत की सलामती की दुआ मांगी। वहीं, पाकिस्तान ने हिदुस्तानी आफीसरो को सरबजीत से मिलने से रोक दिया है।

सरबजीत के घर के चार मेम्बरों को पाकिस्तान ने हफ्ते के दिन वीजा जारी किया था। इनमें से घर का एक मेम्बर अस्पताल में सरबजीत सिंह के साथ रह भी सकेगा। इस बीच, लाहौर की कोट लखपत जेल में जानलेवा हमले का शिकार हुए सरबजीत की हालत बेहद नाजुक बनी हुई है।

सरबजीत सिंह पर हमले और उसकी नाज़ुक हालत पर वज़ीर ए आज़म मनमोहन सिंह ने भी फिक्र जताया है। उन्होंने इसे बेहद अफसोसनाक वाकिया करार दिया है। बीजेपी ने इस हमले को हिंदुस्तानी खारेजा पालिसी की नाकामी बताते हुए कहा है कि सरबजीत की तरह ही हिंदुस्तानी खारेजा पालिसी भी कोमा में है।

पाकिस्तान में सरबजीत की सेहत पर हिंदुस्तानी हाई कमीशन बराबर नजर रखे हुए है। वज़ीर ए खारेज़ा सलमान खुर्शीद ने इस मुद्दे पर पाकिस्तान से सख्त मुखालिफत दर्ज कराने की बात कही है। उन्होंने कहा कि वह सरबजीत पर हुए इस हमले से मैं बहुत गमगीन हूँ । मज़हबी दुनिया में ऐसा बर्ताव कभी नहीं हुआ था।

वज़ीर ए आज़म ने कहा कि यह बहुत अफसोस की बात है कि जेल में कुछ कैदियों ने उन पर हमला किया। इस मामले के ज़जबाती पहलुओं और हसासियत को देखते हुए हिंदुस्तान लगातार पाकिस्तान के सिफारतकारो के राबिता में है। बीजेपी के तरजुमानसुधांशु त्रिवेदी ने कहा, यह बहुत अफसोसनाक वाकिया है।

हुकुमत ए हिंदुस्तान को इस मामले में बहुत सख्त कदम उठाने चाहिए। इस वाकिय ने आखिर यह साबित कर दिया कि हिंदुस्तान का सिफारती असरात खत्म हो गया है व गैर मुल्की पालिसी सरबजीत की तरह ही कोमा में चली गई है। वज़ीर ए खारेज़ा सलमान खुर्शीद ने कहा कि जो मुम्किन होगा, किया जाएगा। फिलहाल हम सरबजीत के इलाज में पाकिस्तान को हर मदद मुहैया कराने को तैयार हैं। उन्होंने कहा कि वाकिया की बुनियाद पर सरबजीत को वापस लाने के लिए दबाव बनाया जाएगा। इस बीच, पाकिस्तान के इंसानी हुकूक कमीशन ने वाकिया की मुज़म्मत करते हुए जिम्मेदार लोगों को सजा की मांग की है।

TOPPOPULARRECENT