Tuesday , December 12 2017

चंडीगढ आयी पाकिस्तान की बेटियॉं, बोलीं जंग का अफसाना तो सिर्फ मीडिया तक है !

Pakistan’s Girls for Peace Group, majority of them on their first visit to India, arrived here to take part in the 11th Global Youth Peace Festival, organised by an NGO. (AP)

चंडीगढ। उरी हमले के पसे मंज़र में भारत और पाकिस्तान के दरम्यान बढती हुये तनाव के बीच पडोसी मुल्क पाकिस्तान की १९ लडकियाँ कल रात यहाँ भारत पहुँची हैं । उनका मानना है कि भारत और पाक के बीच जंग का अफसाना हमारी हुकूमतों और मीडिया तक ही महदूद है जबकि सरहद के दोनों और की अवाम अमन और शांति चाहती है ।

पाकिस्तान के क्रल्स फॉर पीस ग्रुप की लडकियाँ ११वें आलिमी यूथ पूस फेस्टीविल्स में हिस्सा लेने चंडीगढ आयी हैं । इन में से ज़्यादातर लडकियों का ये पहला भारतीय सफर है । प्रोग्राम का आयोजन एक सराकारी संस्था के द्वारा किया गया है जिस मौके पर पाकिस्तान की आयी लडकियों ने अपना इज़हार् ख़्याल करते हुये इस बात को ज़ोर देकर कहा है कि भारत और पाक की अवाम तो शांति चाहती है परंतु दोनों देशों के सियासी रहनुमा और मीडिया इस मुद्दे को भुना कर अपनी दुकान चमकाने में व्यस्त हैं ।

अल्वीना ने कहा कि अंतत: मुझे लगता है कि हमारा इतिहास एक है और यदि आप इस बात को भूल जाएं कि जंग होने वाली है, तो मेरा नहीं ख्याल कि सामान्य आवाम अपने लिए सकून की जिन्दगी से ज्यादा किसी और चीज की फिक्र करता है। लाहौर की ही रहने वाली उरवाह सुल्ताना का कहना है कि उरी हमले के कारण दोनों देशों के बीच बढ़ते तनाव के मद्देनजर उनका परिवार इस दौरे को लेकर चिंतित था।

सुल्ताना ने कहा कि उन्होंने कहा कि यदि तनाव और बढ़ेगा तो क्या होगा? मैंने उनसे कहा कि खुदा-न-खास्ता अगर जंग शुरू हो जाती है तो हम वहां (पाकिस्तान) भी मर सकते हैं। तो इससे क्या फर्क पड़ेगा अगर मैं यहां (भारत) मर जाऊं।

TOPPOPULARRECENT