चंडीगढ़ – नहीं कर पाए रेप तो किशोरी को जिंदा जलाया, दो दिन बाद हुई मौत

चंडीगढ़ – नहीं कर पाए रेप तो किशोरी को जिंदा जलाया, दो दिन बाद हुई मौत

चंडीगढ़ के  बेमेतरा जिले में एक बार फिर दिल को दहला देने वाली घटना सामने आई है। किशोरी से दुष्कर्म करने में सफल नहीं होने पर आरोपितों ने उस पर मिट्टीतेल उड़ेलकर आग लगा दी। इसके बाद भाग गए। अस्पताल में दो दिन तक जीवन और मौत से संघर्ष करने के बाद आखिरकार पीड़िता की सांसें थम गईं, लेकिन मौत से पहले उसने आरोपितों के खिलाफ पुलिस में नामजद बयान दे दिया।

घटना दाढ़ी थाना अंतर्गत आने वाले एक गांव में सोमवार दोपहर की है। बताया जाता है कि किशोरी बकरी चराने के लिए खेतों की ओर गई थी। इसी दौरान दो आरोपितों ने उसे अकेला पाकर दुष्कर्म करने की कोशिश की। पीड़िता के विरोध के चलते वे जब उसमें सफल नहीं हो पाए तो मिट्टीतेल उड़ेलकर उस पर आग लगा दी। इससे बच्ची करीब नब्बे फीसद जल गई। इसके बाद आरोपित भाग गए। घटना की जानकारी गांव तक पहुंची तो परिजनों ने उसे बेमेतरा जिला अस्पताल में भर्ती करा दिया। यहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे रायपुर रेफर कर दिया गया। अब तक बच्ची बयान देने की स्थिति में नहीं थी। मंगलवार को डॉक्टरों की इजाजत के बाद रायपुर पुलिस ने बच्ची का बयान लिया, जिसमें उनसे बताया कि गंदे काम में सफल नहीं हो पाने पर गांव के दो लड़कों ने उसे जला दिया। इसके बाद रायपुर पुलिस ने मामला दाढ़ी थाने भेज दिया। बुधवार को बच्ची की मौत हो गई। इस पर पुलिस ने आरोपित शरद जायसवाल को हिरासत में लेकर उससे पूछताछ कर रही है। वहीं दूसरा आरोपित फरार है। पुलिस के मुताबिक वह नाबालिग है।

थाना प्रभारी सुरेश कश्यप ने बताया की कीशोरी से दुष्कर्म में सफल नहीं हो पाने पर उसे जला देने की घटना सामने आई है। इस मामले में एक आरोपित को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। बच्ची के परिजनों से भी जानकारी ली जा रही है।

 

Top Stories