Wednesday , December 13 2017

चंद्राबाबू नायडू मेहनती लीडर : गवर्नर नरसिम्हन

गवर्नर आंध्र प्रदेश ई एस एल नरसिम्हन ने सदर तेलुगु देशम चंद्राबाबू नायडू से मुलाक़ात के मौके पर साबिक़ा यादों को ताज़ा किया।

गवर्नर आंध्र प्रदेश ई एस एल नरसिम्हन ने सदर तेलुगु देशम चंद्राबाबू नायडू से मुलाक़ात के मौके पर साबिक़ा यादों को ताज़ा किया।

जब नायडू ने राज भवन में उन से मुलाक़ात की तो गवर्नर ने कहा कि वो एक आई पी एस ऑफीसर थे और जब चंद्राबाबू नायडू 1995 से 2004 के दौरान चीफ़ मिनिस्टर थे वो ( नरसिम्हन ) इंटेलिजेंस ब्यूरो में बरसर-ए-कार थे।

उस वक़्त नाई दिल्ली के दौरे करते थे। तेलुगु देशम पारलीमानी पार्टी के उस वक़्त के लीडर केयर्न नायडू ने उन से मुलाक़ात करके नुमाइंदगी की थी कि चंद्राबाबू नायडू की सेक्यूरिटी कम करदी गई है।

जब उन्हों ( नरसिम्हन ) ने इस का जायज़ा लिया तो पता चला कि दर असल सेक्यूरिटी में इज़ाफ़ा कर दिया गया है। तेलुगु देशम सरबराह ने उस वक़्त यरन नायडू को याद किया जो 2012 के अवाख़िर में एक सड़क हादसे में चल बसे थे।

गवर्नर ने कहा कि अफ़सोस की बात हैके आज यरन नायडू हम में मौजूद नहीं हैं। गवर्नर ने तेलुगु देशम के नौ मुंतख़ब अरकाने असेंबली से जो नायडू के साथ राज भवन पहूंचे थे कहा कि चंद्राबाबू नायडू सख़्त मेहनती हैं। उन्होंने अरकाने असेंबली से कहा कि अगर वो भी अपने लीडर (नायडू) की तरह मेहनत करें तो नाम कमा सकते हैं। गवर्नर ने नायडू से सवाल किया कि वो कब हलफ़ लेना चाहते हैं। नायडू ने कहा कि 2 जून को आंध्र प्रदेश की तक़सीम के बाद ही एसा करना मुम्किन है। चंद्राबाबू नायडू ने राज भवन में एक घंटा गुज़ारा और दस मिनट तक उन्होंने गवर्नर के साथ तन्हाई में मुलाक़ात की।

TOPPOPULARRECENT