Sunday , December 17 2017

चंद्रा बाबू नायडू का एहतिजाज, सयासी तमाशा

हैदराबाद 12जनवरी। मोहम्मद अलीम उद्दीन- जगन मोहन रेड्डी की ताईद करने वाले कांग्रेस के रुकन असम्बली मिस्टर ऐम चन्द्र शेखर रेड्डी ने बर्क़ी शरहों में बेतहाशा इज़ाफ़ा करने वाले चंद्रा बाबू नायडू की जानिब से बर्क़ी शरहों मैं इमकानी

हैदराबाद 12जनवरी। मोहम्मद अलीम उद्दीन- जगन मोहन रेड्डी की ताईद करने वाले कांग्रेस के रुकन असम्बली मिस्टर ऐम चन्द्र शेखर रेड्डी ने बर्क़ी शरहों में बेतहाशा इज़ाफ़ा करने वाले चंद्रा बाबू नायडू की जानिब से बर्क़ी शरहों मैं इमकानी इज़ाफ़ा के ख़िलाफ़ एहतिजाज को सयासी तमाशा और तेलंगाना में जगन की भूक हड़ताल को कामयाब क़रार दिया।

आज आरमोर में भूक हड़ताल करने वाले जगन मोहन रेड्डी से मुलाक़ात के बाद मीडीया से बातचीत करते हुए मिस्टर ऐम चन्द्र शेखर रेड्डी ने कहा कि जगन मोहन रेड्डी रियासत के मक़बूल तरीन क़ाइद हैं, जिन्हें रियासत के तीनों इलाक़ों के अवाम की मुकम्मल ताईद हासिल है। जगन की नक़ल करते हुए सदर तेलगु देशम पार्टी मिस्टर एन चंद्रा बाबू नायडू ने किसानों केमसाइल पर मगरमच्छ की तरह आँसू बहाने की कोशिश की है, जिस को अवाम बिलख़सूस किसानों ने कोई एहमीयत नहीं दी।

जब कि सदर वाई ऐस आर कांग्रेस पार्टी जगन मोहन रेड्डी ने किसानों के मसाइल पर रियासत के किसी भी इलाक़ा में एहितजाजी प्रोग्राम मुनज़्ज़म किया तो वो प्रोग्राम कामयाब रहा। उन्हों ने किसानों के मसाइल पर आरमोर ज़िला निज़ाम आबाद में सह रोज़ा एहितजाजी प्रोग्राम का आग़ाज़ किया है, जो बेहद कामयाब है।

तेलगु देशम के 9 साला दौर हुकूमत में बर्क़ी शरहों में बेतहाशा इज़ाफ़ा करने वाले चंद्रा बाबू नायडू की जानिब से इमकानी बर्क़ी शरहों में इज़ाफ़ा के ख़िलाफ़ एहतिजाज मज़हका ख़ेज़ है, क्योंकि बर्क़ी शरहों में इज़ाफ़ा के ख़िलाफ़ पुरअमन एहतिजाज करने वालों पर बशीर बाग़ में मिस्टर नायडू ने पुलिस के ज़रीया गोलीयां चलवाई थीं, जिस में कई अफ़राद हलाक भी हुए थे। इन सब को भूल कर चंद्रा बाबू नायडू सिर्फ़ सयासी फ़ायदा के लिए बर्क़ी मसला पर एहतिजाज कर रहे हैं।

उन्हों ने जगन के एहतिजाज पर हुक्मराँ कांग्रेस और असल अप्पोज़ीशन तेलगु देशम की जानिब से की जाने वाली तन्क़ीदों को मुस्तर्द करते हुए कहा कि जगन के एहतिजाज को अवाम की मुकम्मल ताईद हासिल है। ये एहतिजाज किसानों के मसाइल पर है, ताहम उसे समाज के तमाम तबक़ात की ताईद हासिल हो रही है।

अवामी एतिमाद से महरूम कांग्रेस और तेलगु देशम क़ाइदीन अपनी और अपनी जमातों के वजूद को बरक़रार रखने के लिए जगन मोहन रेड्डी पर तन्क़ीद कर रहे हैं, लेकिन रियासत के अवाम को इस बात का अंदाज़ा है कि जगन मोहन रेड्डी ही डाक्टर राज शेखर रेड्डी के सुनहरे दौर को वापिस लासकते हैं।

राज शेखर रेड्डी के बाद रियासत में दो चीफ़ मिनिस्टर्स ज़रूर तबदील हुए, लेकिन रियासत की हालत फिर भी तबदील नहीं होसकी। फ़लाही असकीमात अपना रास्ता छोड़ चुकी हैं, ग़रीब अवाम का कोई पुर्साने हाल नहीं है, रियासत के अवाम कांग्रेस और तेलगु देशम को सबक़ सिखाने के लिए इंतिख़ाबात का बड़ी बेचैनी से इंतिज़ार कर रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT