Tuesday , December 12 2017

‘चलो छोड़ दूंगा’ फिऱ कर डाला……………..

पलवल, 21 जून: यूपी की एक खातूनने पुलिस को दी अपनी शिकायत में कहा कि 19 जून को वह अपनी मौसी से मिलने होडल आई थी। मौसी से मिलने के बाद वह हसनपुर चौक पर खड़ी पलवल जाने के लिए बस का इंतेजार करने लगी।

पलवल, 21 जून: यूपी की एक खातूनने पुलिस को दी अपनी शिकायत में कहा कि 19 जून को वह अपनी मौसी से मिलने होडल आई थी। मौसी से मिलने के बाद वह हसनपुर चौक पर खड़ी पलवल जाने के लिए बस का इंतेजार करने लगी।

फिर थोड़ी देर में एक बोलेरो गाड़ी आई जिसमें उसकी ससुराल के डिगंबर, प्रेमचंद्र और खर्रोट साकिन मेघश्याम, गिडोह साकिन कैलाश, स्यारोली साकिन राजबीर सवार थे। उन्होंने उसके पास गाड़ी रोकी और कहा कि वे पलवल जा रहे हैं, वे उसे भी छोड़ देंगे।

खातून ने बताया कि वह उनके साथ गाड़ी में बैठ गईं। खातून ने इल्ज़ाम लगाया कि जब वे बामनीखेड़ा के पास पहुंचे तो दरिंदो ने गाड़ी शूगर मिल के पास एक कोठरे की ओर मोड़ दी।

मुतास्सिरा का कहना है कि मुल्ज़िमो ने उसका मुंह बंद कर उसे जबरन कोठरे में ले गए। एक मुल्ज़िम ने उसकी कनपटी पर तमंचा रख दिया और उसके साथ बारी-बारी से रेप किया।

गैंगरेप से वह बेहोश हो गई, जब उसे होश आया तो वह सरकारी अस्पताल में थी। अस्पताल में उसने अपनी मौसी को आपबीती सुनाई । मुतास्सिरा की शिकायत पर पुलिस ने जुमेरात की शाम मुल्ज़िमों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

TOPPOPULARRECENT