Friday , November 24 2017
Home / Khaas Khabar / चाइनीज घड़ी से किया गया था महाबोधि मंदिर में धमाके

चाइनीज घड़ी से किया गया था महाबोधि मंदिर में धमाके

पटना, 10 जुलाई: बोधगया वाकेए महाबोधि मंदिर सीरियल बम ब्लास्ट के लिए अमोनियम नाइट्रेट (एनएच4-एनओ3) से बम तैयार किए गए थे और उनमें चीन की बनी घड़ी से धमाके किया गया था।

पटना, 10 जुलाई: बोधगया वाकेए महाबोधि मंदिर सीरियल बम ब्लास्ट के लिए अमोनियम नाइट्रेट (एनएच4-एनओ3) से बम तैयार किए गए थे और उनमें चीन की बनी घड़ी से धमाके किया गया था।

फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (एफएसएल) की टीम ने ज़ाय वाकिए से 12 सुबूत इक्ट्ठे किए हैं, जिसकी जांच लैब में की जानी है। इसके साथ ही कौमी जांच एजेंसी (एनआइए) की टीम ने अलग से सुबूत जुटाए हैं।

इस बीच, सीरियल बम ब्लास्ट के दो दिन बाद सीआरपीएफ और बिहार मिलिट्री पुलिस (बीएमपी) ने बोधगया के मंदिरों व मठों की सेक्युरिटी संभाल ली है।

उधर, एनआईए टीम ने मंगल के दिन पटना से खातून समेत चार लोगों को हिरासत में लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है।

पुलिस ने दावा किया है कि इन चारों ने वाकिया के दिन सुबह 6:30 मिनट पर महाबोधि मंदिर कांप्लेक्स के पास एक होटल से चेक आउट किया था।

चारों ने दो घंटे पहले ही होटल में चेक इन किया था। इससे पहले वाकिया के दिन ही एनआईए ने एक शख्स को हिरासत में लिया था। फिलहाल जांच एजेंसी सीसीटीवी फुटेज से दहशतगर्द हमले के किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है।

पुलिस के मुताबिक अमोनियम नाइट्रेट-एनएच4-एनओ3 किसानों के घर में आसानी से दस्तयाब होता है। बाजार में खाद की दुकानों पर यह दस्त्याब होता है। इसकी ताकत अमूमन कम होती है, लेकिन इसे बढ़ाया जा सकता है।

धमाके में अमोनियम नाइट्रेट के साथ ही इस्तेमाल किए गए डेटोनेटर कहां से आए, फिलहाल इसकी पड़ताल की जा रही है। डेटोनेटर में लगे स्टिकर से इसके बनाने की जगह की पहचान की जा सकती है।

TOPPOPULARRECENT