Saturday , June 23 2018

चारा घोटाला मामला : सरकारी खजाने में सोना जमा करने के लिए आरबीआइ को खत

रियासत हुकूमत ने चारा घोटाले का 49 किलोग्राम 475 ग्राम सोना सरकारी खजाने में जमा करने के लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआइ, पटना) को खत लिखा है। सीबीआइ के खुसुसि जज की तरफ से दिये गये हुक्म में रियासत के फाइनेंस सेक्रेटरी अमित खरे ने ख

रियासत हुकूमत ने चारा घोटाले का 49 किलोग्राम 475 ग्राम सोना सरकारी खजाने में जमा करने के लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआइ, पटना) को खत लिखा है। सीबीआइ के खुसुसि जज की तरफ से दिये गये हुक्म में रियासत के फाइनेंस सेक्रेटरी अमित खरे ने खत लिखा है।

फायनेंस सेक्रेटरी की तरफ से लिखे गये खत में कहा गया है कि सीबीआइ ने चारा घोटाले के सप्लायर त्रिपुरारी मोहन के ठिकानों से 46.475 किलोग्राम सोना जब्त किया था। खुसुसि जज ने मामले की सुनवाई के बाद इसे सरकारी खजाने में जमा करने का हुक्म दिया है।

इसलिए आरबीआइ इसे झारखंड सरकार के सरकारी खजाने में जमा करा दे। गौरतलब है कि अदालत के हुक्म के बाद हुकूमत ने गोल्ड बांड सरकारी खजाने में जमा कराने की जिम्मेवारी फायनेंस सेक्रेटरी को सौंपी थी।

चारा घोटाले के कांड नंबर आरसी 20ए/96 में फैसला सुनाते वक्त मौजूदा खुसुसि जज ने पीके सिंह ने घोटालेबाजों के ठिकानों से जब्त कुल 207 किलोग्राम 513 ग्राम सोना और 1.67 करोड़ रुपये सरकारी खजाने में जमा करने का हुक्म दिया था। उनके तबादले के बाद खुसुसि जज योगेश्वर मणी की अदालत में कांड नंबर आरसी 20ए/96 के मुजरिमों व एप्रुवर ने दुबारा गौर के लिए दरख्वास्त दिया।

TOPPOPULARRECENT