Tuesday , December 19 2017

चावल भरे ड्रम से निकली दवा की शीशी

दानापुर 20 जुलाई : चावल भरे ड्रम में दवाई की शीशी निकलने पर लड़कों ने मिड डे मिल खाने से इनकार कर दिया। हासिल मालूमात के मुताबिक बिक्रम ब्लाक के मंझौली गांव वाक़ेय कन्या मिडिल स्कूल में जुमा को बावर्ची लीलावती देवी मिड डे मील का खान

दानापुर 20 जुलाई : चावल भरे ड्रम में दवाई की शीशी निकलने पर लड़कों ने मिड डे मिल खाने से इनकार कर दिया। हासिल मालूमात के मुताबिक बिक्रम ब्लाक के मंझौली गांव वाक़ेय कन्या मिडिल स्कूल में जुमा को बावर्ची लीलावती देवी मिड डे मील का खाना बनाने के लिए ड्रम से चावल निकालने गयीं , तो नामालूम दवाई की शीशी मिली। इस बात की जानकारी उन्होंने प्रिंसिपल संजय प्रसाद को पढाई के दौरान क्लास में दी। बावर्ची की बात सुनते ही लड़कों में कोहराम मच गया। एक क्लास से दूसरे क्लास होते हुए बात पूरे स्कूल में फैल गयी। इसके बाद बच्चों ने स्कूल का खाना खाने से इनकार कर दिया। टिफिन के दौरान लड़के अपने घर चले गये। वाकिया की इत्तेला पाकर वालेदैन भी स्कूल में पहुंच गये। काफी समझाने-बुझाने के बावजूद भी लड़कों ने मिड डे मिल खाना नहीं खाया। इंचार्ज की तरफ से बच्चों के सामने ही खाना खाने के बावजूद भी बच्चों ने खाना नहीं खाया।

स्कूलों का जायजा लिया

ब्लाक वसायल मर्क़ज के कन्वेनर संतोष कुमार और गजेंद्र प्रसाद ने मिशन मयार के प्रोग्राम के कामयाब अमल को लेकर जुमा को शहर के मुख्तलिफ स्कोलों का जायजा लिया। उन्होंने बताया कि इस प्रोग्राम के तहत असात्ज़ा को जरुरी सिम्त हिदायत दिये गये हैं। उन्होंने बच्चों को खाना देने से पहले स्कूल के प्रिंसिपल खाना खाकर तहकीक करने की हिदायत दी ।

TOPPOPULARRECENT