Friday , May 25 2018

चीनी ख़ातून के हाथों हिंदूस्तानी ताजिर (व्यापारी) का अग़वा

एक चीनी ख़ातून को एक हिंदूस्तानी ताजिर (व्यापारी) को गुजिश्ता हफ़्ता अग़वा करने पर गिरफ़्तार कर लिया गया। दोनों के दरमयान क़र्ज़ की रक़म का तनाज़ा था। हिंदूस्तानी ताजिर (व्यापारी) को ख़ातून के चंगुल से छुड़ाकर इस के मकान रवाना

एक चीनी ख़ातून को एक हिंदूस्तानी ताजिर (व्यापारी) को गुजिश्ता हफ़्ता अग़वा करने पर गिरफ़्तार कर लिया गया। दोनों के दरमयान क़र्ज़ की रक़म का तनाज़ा था। हिंदूस्तानी ताजिर (व्यापारी) को ख़ातून के चंगुल से छुड़ाकर इस के मकान रवाना कर दिया गया। अग़वाकार ख़ातून का नाम सिर्फ वांग बताया गया। इस ने अपने ब्वॉय फ्रैंड की मदद से मुहम्मद दानिश क़ुरैशी नामी हिंदूस्तानी ताजिर (व्यापारी) को अपने मकान पर क़ैद कर रखा था।

सरकारी ख़बररसां एजैंसी झुन्नावा ने मुक़ामी पुलिस के ब्यान के हवाले से ये इत्तिला दी। पुलिस ने क़ुरैशी को आज़ाद करवा लिया जो एक दीगर (दुसरे) हिंदूस्तानी ताजिर (व्यापारी) फ़ैसल के पास परचीज़र की हैसियत से मुलाज़मत अंजाम दिया करता था। 19 मई को क़ुरैशी का एक रेस्तोरां से अग़वा किया गया था, जबकि 30 साला अग़वाकार ख़ातून वांग को गिरफ़्तार किया गया। फ़ैसल के बारे में ये कहा गया है कि वो वांग को एक काबिल लिहाज़ रक़म अदाशुदनी था।

वांग के बार बार इसरार के बावजूद फ़ैसल ने रक़म वापिस नहीं की थी, जिस से दिलबर्दाशता होकर वांग ने अपने ब्वॉय फ्रैंड की मदद से फ़ैसल के पास मुलाज़मत करने वाले दानिश क़ुरैशी का अग़वा कर लिया और कहा कि वो अपने बॉस पर रक़म वापिस करने के लिए दबाव डाले।

TOPPOPULARRECENT