चीन-ईरान में 400 अरब डॉलर की महाडील, भारत को झटका !

चीन-ईरान में 400 अरब डॉलर की महाडील, भारत को झटका !

भारत और चीन के बीच जारी तल्खी के बीच अब ईरान ने भी भारत को बड़ा कूटनीतिक झटका दिया है। ईरान ने चीन से होने जा रही 400 अरब डॉलर की डील से ठीक पहले भारत को चाबहार रेल परियोजना से बाहर कर दिया है। ईरान ने इसके पीछे की वजह बताते हुए कहा कि 4 साल गुजर जाने के बावजूद भी भारत की ओर से इस परियोजना के लिए फंड नहीं दिया जा रहा है, इसलिए अब वह खुद ही चाबहार रेल परियोजना को पूरा करेगा। ईरान के इस कदम को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बहुत बड़ा बाना जा रहा है। बता दें कि चाबहार रेल परियोजना चाबहार पोर्ट से जहेदान के बीच बनाई जाना है। पिछले हफ्ते ही ईरान के ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर मोहम्मद इस्लामी ने इस 628 किलोमीटर लंबे ट्रैक को बनाने का उद्घाटन किया था।

अफगानिस्तान तक बढ़ाना है रेलवे लाइन

ईरान अपनी रेलवे लाइन को अफगानिस्तान के जरांज सीमा तक बढ़ाना चाहता है। इसके लिए चाबहार रेल परियोजना बनाई गई थी। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस पूरी परियोजना को 2022 तक पूरा किया जाना है। गौरतलब है कि चाबहार रेल परियोजना को भारत की सरकारी रेलवे कंपनी इरकान द्वारा पूरा किया जाना था।

इस परियोजना से भारत और अफगानिस्तान सहित अन्य मध्य एशियाई देशों तक एक वैकल्पिक मार्ग मुहैया कराए जाने के लिए बनाया जाना था। इसी वजह से ईरान, भारत और अफगानिस्तान के बीच इसे लेकर त्रिपक्षीय समझौता हुआ था।

2016 में हुए थे समझौते पर हस्ताक्षर

ईरान यात्रा के दौरान साल 2016 में पीएम नरेंद्र मोदी ने चाबहार समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। इस पूरी परियोजना पर लगभग 1.6 अरब डॉलर का निवेश किया जाना था। इस परियोजना को पूरा करने के लिए भारत से इंजीनियर ईरान भी गए थे, लेकिन अमेरिकी प्रतिबंधों की आशंका के चलते भारत ने रेल परियोजना पर काम शुरू नहीं किया था।

चीन करने जा रहा 400 अरब की डील

अमेरिका से साथ जारी ट्रेड वॉर के बीच चीन ने ईरान को साधने की कोशिश की है। इसी कड़ी में चीन एक बहुत बड़ी डील करने जा रहा है। इसके अंतर्गत ईरान से चीन बहुत सस्ती दरों पर तेल खरीदेगा, वहीं इसके बदले में वह ईरान में 400 अरब डॉलर का निवेश करेगा। इतना ही नहीं वह ईरान को घातक आधुनिक हथियार भी देने में मदद करेगा।

Top Stories