Friday , December 15 2017

चीन का हिंदूस्तानी सरहद के करीब J-10 लड़ाका तय्यारों का तजुर्बा

चीन ने निहायत ऊंचाई वाले क़नघाई । तिब्बत सतह मुर्तफ़े में जो हिंदूस्तान के साथ मुतनाज़ा सरहदों से काफ़ी करीब है , बड़े पैमाने पर फ़ौजी मश्कें किए जिस के दौरान इस ने पहली मर्तबा हमा ख़ूबी के हामिल J-10 लड़ाका जुट तय्यारों का तजुर्बा

चीन ने निहायत ऊंचाई वाले क़नघाई । तिब्बत सतह मुर्तफ़े में जो हिंदूस्तान के साथ मुतनाज़ा सरहदों से काफ़ी करीब है , बड़े पैमाने पर फ़ौजी मश्कें किए जिस के दौरान इस ने पहली मर्तबा हमा ख़ूबी के हामिल J-10 लड़ाका जुट तय्यारों का तजुर्बा क्या । सरकारी मीडिया ने यहां रिपोर्ट दी कि पीपल्ज़ लिबरेशन आर्मी ( पी अल ए ) एयरफ़ोर्स ने ज़मीनी हमले की मश्क़ की जो क़नघाई ।

तिब्बत जैसे मुश्किल मुक़ाम पर अपनी नौइयत का अव्वलीन ऑपरेशन है । पी अल ए डेली के कल जारी करदा रिपोर्ट और तसावीर के मुताबिक़ J-10 रेजमनट के मैदान पर मौजूद अमले ने लड़ाका तय्यारों में इंधन भरा और 3,500 मीटर बुलंदी वाले मुक़ाम पर

-20 सनटी ग्रेड से भी कमतर दर्जा हरारत के माहौल में असलहा भरकर तजुर्बा क्या । ये तय्यारे रिवायती और इस के साथ साथ लेज़र गाईड वाले बमों के ज़रीया अपने निशानों तक गए ।

रिपोर्ट के मुताबिक़ दिन और रात दोनों मौक़ों पर हमलों के तजुर्बा किए गए । ये दूसरी बार है कि सरकारी मीडिया ने देसी साख़ता J-10 फाइटर की जानिब से लेज़र गाईड वाले बमों के इस्तिमाल की तसावीर जारी की हैं । इन मश्क़ों को आज एक और सरकारी रोज़नामा दी ग्लोबल टाईम्स ने भी नुमायां तौर पर पेश किया है ।

इन मश्क़ों के ताल्लुक़ से ख़बरों को यकायक इस तरह उजागर करना दरअसल हिंदूस्तान के लिए पयाम समझा जा रहा है कि वो सरहद के पास अफ़्वाज को जमा करने के मुआमले में एहतियात बरते।

TOPPOPULARRECENT