Saturday , June 23 2018

चीन ने फिर कहा, NSG और मसूद पर नहीं बदलेंगे राय

नई दिल्ली: रायसीना डॉयलॉग के दौरान पीएम मोदी ने कहा था कि पड़ोसी मुल्कों को एक दूसरे के हितों और चिंताओं के प्रति संवेदनशीलता दिखाने की आवश्यकता है. चीन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस बयान को सकारात्मक बतातया लेकिन साथ ही यह भी कहा कि कि वो परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) और मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र में आतंकी घोषित करने के मुद्दे पर अपनी राय नहीं बदलेगा. चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारे के मुद्दे पर वो अब भी पुराने स्टैंड पर ही है.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

वन इंडिया के अनुसार, चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा है कि मसूद अजहर को आतंकी घोषित कराने और NSG के मुद्दे को दोनों मुल्कों के संबंधों के बीच बाधान हीं बनाया जाना चाहिए. उनहोंने आगे कहा कि पीओके के रास्ते चीन पाक आर्थिक गलियारे के विषय पर भारत के विरोध को खारिज करते हैं, और इस विषय में चीन की नीति कश्मीर के संबंध में नहीं बदल सकती.

बता दें कि रायसीना डॉयलॉग के दौरान पीएम ने कहा था कि अपने रिश्तों को और अधिक मजबूत बनाने के लिए और शांति बनाए रखने के लिए यह जरूरी है कि हम अहम मुद्दों के प्रति संवेदनशीलता और आदर दिखाएं. एक अच्छे पड़ोस के मेरे विजन की वजह से ही मैंने अपने शपथ ग्रहण समारोह में पाकिस्तान समेत सभी सार्क देशों को न्योता भेजा था. यह अप्राकृतिक नहीं है कि दो पड़ोसी ताकतों (भारत और चीन) के बीच कुछ मतभेद हों.

उल्लेखनीय है कि बीते साल चीन ने भारत की NSG सदस्यता लेने की कोशिशों पर पानी फेर दिा था. इतना ही नहीं चीन ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और उसके सरगना मसूद अजहर को वैश्विवक आतंकी घोषित कराने के मुद्दे पर भी संयुक्त राष्ट्र में अपने वीटो का प्रयोग किया था. चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता चुनयिंग ने कहा कि चीन भारत के रिश्तों के बीच इन दो मुद्दों को बाधा नहीं बनाया जाना चाहिए. हमें आगे देखते हुए सहमित के लिए मुद्दे तलाश करने चाहिए.

TOPPOPULARRECENT