Thursday , November 23 2017
Home / Delhi News / चीन से LED बल्ब की खरीद में 20 हज़ार करोड़ का घोटाला

चीन से LED बल्ब की खरीद में 20 हज़ार करोड़ का घोटाला

नई दिल्ली। कांग्रेस ने ‘उजाला’ योजना में एलईडी (प्रकाश उत्सर्जक डायोड) बल्बों की खरीद और वितरण में नरेंद्र मोदी सरकार पर घोटाले का आरोप लगाया है। कांग्रेस के प्रवक्ता शक्तिसिंह गोहिल ने कहा कि इसमें 20,000 करोड़ का घोटाला हुआ है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का दावा है कि उनकी सरकार ने 21 करोड़ से अधिक एलईडी बल्ब वितरित किए हैं लेकिन देश के लोगों को यह नहीं बताया है कि इस प्रक्रिया में उनकी सरकार ‘मेक इन इंडिया’ के अपने प्रचारित दावों का ही मजाक बना रही है।

 

 

 

उन्होंने कहा कि इन एलईडी बल्बों, एलईडी स्ट्रीट लाइट, एलईडी पंप आदि उत्पाद चीन या ताइवान निर्मित हैं। उधर, सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी ईईएसएल ने उन्नत ज्योति बाई एफोर्डेबल एलईडी फार आल उजाला योजना के लिये एलईडी बल्ब की खरीद में अनियमितता के आरोपों से इनकार किया और इस गुमराह करने वाला और तथ्यों से परे बताया। बिजली मंत्रालय ने कुछ अखबारों में छपे आरोपों का जवाब देते हुए उर्जा दक्षता सेवा लि. ईईएसएल ने दावों को खारिज किया।

 

 

 

 

उसने कहा, उजाला योजना के तहत अब तक 22 करोड़ एलईडी बल्ब बेचे गये। इससे उपभोक्ताओं के बिजली में 11,500 करोड़ रुपए की बचत हुई। कांग्रेस के एलईडी की निविदा प्रक्रिया में अनियमितता, चीनी एलईडी बल्बों का आयात कर मेक इन इंडिया नीति और सतर्कता नियमों का उल्लंघन एवं 20,000 करोड़ रुपए के घोटाले के आरोप के बाद ईईएसएल ने सफाई दी है।

TOPPOPULARRECENT