Monday , December 11 2017

10 करोड़ डॉलर शरणार्थियों के संकट के समाधान के लिए देगा चीन

दिल्ली : चीन के प्रधानमंत्री ली किक्यांग ने संयुक्त राष्ट्रसंघ की महासभा में इस विषय की घोषणा करते हुए कहा कि उनके देश ने पलायन के अंतरराष्ट्रीय संकट के समाधान के लिए 10 करोड़ डॉलर विशेष किया है। ली किक्यांग ने कहा कि आज शरणार्थियों और पलायनकर्ताओं की संख्या में इस सीमा तक वृद्धि हो गयी है जो पिछले कई दशकों में अभूतपूर्व रही है। चीन के प्रधानमंत्री ने कहा कि जो देश शरणार्थियों और बेघर होने की समस्या से जूझ रहे हैं उन देशों के विकास की प्रक्रिया न केवल प्रभावित हो रही है बल्कि क्षेत्र की शांति व सुरक्षा खतरे में पड़ गयी है और वह विश्व की अर्थ व्यवस्था के कमजोर होने और अंतरराष्ट्रीय संतुलन के बिगड़ जाने का कारण बनेगी।

चीनी प्रधानमंत्री ने इस ओर संकेत के साथ कि शरणार्थियों के संकट से आतंकवादियों को अधिक अवसर मिल जाता है, कोई भी देश इस संकट के परिणामों से सुरक्षित नहीं है। ज्ञात रहे कि चीन जुलाई महीने में पलायन के अंतरराष्ट्रीय संगठन से जुड़ गया और उसने घोषणा की थी कि वह शरणार्थी संकट के समाधान के लिए और अधिक धन विशेष किये जाने का इरादा रखता है। इसी बीच मिस्र के राष्ट्रपति ने बल देकर कहा है कि सीमाओं को बंद कर देना ग़ैर कानूनी पलायन को रोकने का मार्ग नहीं है।

हमारे संवाददाता की रिपोर्ट के अनुसार अब्दुल फत्ताह अस्सीसी ने न्यूयार्क में शरणार्थियों के संकट की समीक्षा के लिए आयोजित कांफ्रेन्स में कहा कि शरणार्थियों के संकट के समाधान में सक्रिय रूप से भाग लेने हेतु मिस्र अपनी तत्परता की घोषणा करता है।

TOPPOPULARRECENT