चीफ़ मिनिस्टर से प्रिंसिपल सेक्रेट्री अक़लीयती बहबूद के तक़र्रुर पर फिर एक मर्तबा नुमाइंदगी

चीफ़ मिनिस्टर से प्रिंसिपल सेक्रेट्री  अक़लीयती बहबूद के तक़र्रुर पर फिर एक मर्तबा नुमाइंदगी
हैदराबाद 5 मई, ( सियासत न्यूज़) वज़ीरे अक़लीयती बहबूद जनाब मुहम्मद अहमद उल्लाह ने आज चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी से मुलाक़ात की और उन्हें प्रिंसिपल सेक्रेट्री अक़लीयती बहबूद के ओहदा पर किसी मौज़ूं ओहदेदार के तक़र्रुर के सिल

हैदराबाद 5 मई, ( सियासत न्यूज़) वज़ीरे अक़लीयती बहबूद जनाब मुहम्मद अहमद उल्लाह ने आज चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी से मुलाक़ात की और उन्हें प्रिंसिपल सेक्रेट्री अक़लीयती बहबूद के ओहदा पर किसी मौज़ूं ओहदेदार के तक़र्रुर के सिलसिला में फिर एक बार नुमाइंदगी की।

जनाब अहमद उल्लाह गुज़िश्ता दो दिन से मुसलसल चीफ़ मिनिस्टर से इस सिलसिला में नुमाइंदगी कर रहे हैं। उन्हों ने बताया कि अक़लीयती बहबूद जैसे अहम महकमा पर मुस्तक़िल प्रिंसिपल सेक्रेट्री की अदमे मौजूदगी के बाइस अक़लीयती बहबूद की अहम फाईलें ज़ेरे इलतवा हैं।

उन्हों ने शिकायत की कि अक़लीयतों की स्कीमात से मुताल्लिक़ ख़ुद वो भी अहम फ़ैसले नहीं कर पार है हैं। जो भी फाईलें मंज़ूरी के लिए इंचार्ज प्रिंसिपल सेक्रेट्री के पास रवाना की जा रही हैं वो मंज़ूरी के बगै़र सिर्फ़ उन के पास जमा हो रही हैं क्योंकि पहले ही से इंचार्ज प्रिंसिपल सेक्रेट्री रेमंड पीटर के पास काम का काफ़ी बोझ है।

हाफ़िज़ पीर शब्बीर अहमद ने अक़लीयतों की ख़िदमत का जज़बा रखने वाले किसी ओहदेदार को प्रिंसिपल सेक्रेट्री के ओहदा पर फ़ाइज़ करने का मुतालिबा किया ताकि हुकूमत की जानिब से अलॉट कर्दा 1027 करोड़ के बजट का सही इस्तिमाल हो सके।

Top Stories